Sunday, July 15, 2018
Home > Slider > राजनीत से ऊपर उठकर करेंगे काम, सराई टोला में हरगिज़ नहीं लगने देंगे टेंट, किसने किसलिये और क्यों कहा जानने के लिए पढ़े ,……

राजनीत से ऊपर उठकर करेंगे काम, सराई टोला में हरगिज़ नहीं लगने देंगे टेंट, किसने किसलिये और क्यों कहा जानने के लिए पढ़े ,……

रायगढ़ मुनादी।

17 अप्रैल को सराई टोला मे महाराष्ट्र पवार जेनरेशन के कोल् ब्लॉक् के लिए जन सुनवाई होनी है। ग्रामीण जन सुनवाई को पूरी तरह से विफल बंनाने में जुटे है लगातार प्रभावित गाव सहित आस पास के ग्रामीणों की बैठक चल रही है। जहाँ होने वाली जन सुनवाई के विरोध में बैठक कर राजनीत से ऊपर उठकर काम करने का प्रण लिया गया है। बैठक में कहा गया है कि जन सुनवाई के लिए सराई टोला में किसी भी कीमत पर टेंट लगाने ही नहीं दिया जाएगा।

आज भी प्रभावित गाव रोडोपाली, सराइटोला, चितवाही, कुंजेमुरा, गारे, टिहरी रामपुर, सरासमाल, बजर मुड़ा, झिकाबहल, ढोलनारा, मुड़ागांव, आदि प्रभावित गाव के लोगो की बैठक हर दिन अलग अलग गाव में बैठक कर रहे है,।

और राजनीति से ऊपर उठकर काम करने की आपस में सहमति बनी है और सभी आपस में किसी भी कीमत पर प्रसासन के बहकावे व दलालो के चंगुल में न आये।
जन सुनवाई के पहले ग्रामीणों की रणनीति कुछ इस प्रकार  तैयार हो रही हैं कि जन सुनवाई करने से पहले इस मुद्दे पर ठोस निर्णय ले। ग्रामीण चाहते है कि कोर्ट के फैसले के अनुसार ज़मीन के अंदर की सम्पदा ज़मीन मालिक की है। इस लिहाज से या तो क्षेत्र में नया कोल् ब्लॉक न खुले यदि कोयले की जरुरत है तो कोयला ग्रामीण खोदेंगे और कोयला मंडी में कोयला बेचेंगे।
जन सुनवाई में ख़ास बात ये है कि राष्ट्रीय अनुसूची जाति जनजाति आयोग के अध्यक्ष नन्द कुंमार साय ने प्रसासन को एक तरफ चुनोती भरे लहजे में कह चुके है कि प्रशासन जन सुनवाई करा कर तो दिखाये तो दूसरी और जिला प्रशासन इस मामले में भी जन सुनवाई हर हाल में होने की बात कही है।
अब देखना ये है कि अजा अजजा आयोग के अध्यक्ष अपनी बात पर अडिग रहते है या ये सब महज लफ्फाड़े बाजी साबित होती है।
‌इतना तो तय हो चूका है कि कोल् ब्लॉक के लिए जनसुनवाई को विफल बनाने में जुटे हुए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *