Wednesday, December 19, 2018
Home > Slider > खरसिया के अखाड़े में जोर आजमाइश की तैयारी में प्रबल, उमेश को दे पाएंगे टक्कर

खरसिया के अखाड़े में जोर आजमाइश की तैयारी में प्रबल, उमेश को दे पाएंगे टक्कर

 

खरसिया से लक्ष्मीनारायण की मुनादी ।।

 

जशपुर राजघराने के सियासी चेहरा प्रबल प्रताप सिंह खरसिया में अपनी चुनावी जमीन तलाश रहे हैं। इस संबंध में ही  खरसिया विधान सभा के कई गाँव में भाजपा कार्यकर्ताओं की बैठक ली और कांग्रेस पर जमकर बरसे और खरसिया में भाजपा का परचम लहराने कार्यकर्ताओं से कमर कसने के आह्वान किया।

बहुत दिनों से यह अटकल चल रही है कि खरसिया के परंपरागत गढ़ को गिराने के लिए भाजपा प्रबल प्रताप सिंह को यहां से अपना प्रत्याशी बना सकती है। प्रबल प्रताप सिंह स्व. दिलीप सिंह जूदेव के पुत्र हैं जिन्होंने इसी सीट से अविभाजित मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह को नाको चने चबवा दिए थे। वे इतने कम अंतर से हारे थे कि इस हार का भी उस समय जश्न मनाया गया था। अब दिलीप सिंह जूदेव के पुत्र अपने राजनीतिक विरासत को संभाल रहे पूर्व गृह मंत्री शाहिद स्व. नंदकुमार पटेल के पुत्र उमेश पटेल को खरसिया से शिकस्त देने के लिए जोर आजमाइश के लिए खुद को तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं।

यहां कई उम्मीदवार

हालांकि खरसिया की सीट से अभी से भाजपा में कई लोग दावेदार हो गए हैं। खुद प्रदेश के पदाधिकारी इस लाइन में हैं। लेकिन  अब तक जो नाम यहां के उम्मीदवारों के नाम आये हैं उनमें भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष गिरिधर गुप्ता, खरसिया नगरपालिका अध्यक्ष कमल गर्ग, विजय जायसवाल, जिला पंचायत उपाध्यक्ष नरेश पटेल, पूर्व युवामोर्चा अध्यक्ष मंजुल दीक्षित सहित लंबी फेहरिस्त है। लेकिन भाजपा का संभवतः यह भरोसा नहीं कि इस सीट पर इनमें से कोई भी उम्मीदवार वर्तमान विधायक उमेश पटेल को टक्कर भी दे सके। लिहाजा पार्टी ऐसे उम्मीदवार की तलाश में है जिसे विधानसभा क्षेत्र के ज्यादातर लोग जानते हों। प्रबल प्रताप और सरनेम में जूदेव का नाम होने से वे किसी पहचान के मोहताज नहीं और विचारों को दूसरों तक पहुंचा पाने में भी बाकी लोगों से ज्यादा असरदार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *