Thursday, June 21, 2018
Home > Slider > संसाधन और अव्यवस्था के कई आरोप फिर भी मिला कायाकल्प योजना का प्रथम पुरस्कार,जानिए ,कैसे ?

संसाधन और अव्यवस्था के कई आरोप फिर भी मिला कायाकल्प योजना का प्रथम पुरस्कार,जानिए ,कैसे ?

जशपुर मुनादी ।।

अव्यवस्था और संसाधनहीनता के कई आरोप झेल रहे जशपुर के जिला अस्पताल को कायाकल्प योजना के तहत 50 लाख का पुरस्कार मिला है ।  प्रदेश में इस अस्पताल को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है ।कल यानी गुरुवार को राजधानी रायपुर में मुख्यमंत्री के द्वारा इस अस्पताल को बतौर इनाम 50 लाख का चेक दिया गया ।

 

जशपुर जिला चिकित्सालय ने कायाकल्प योजना में प्रदेश में प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने गुरुवार को राजधानी रायपुर में आयोजित कार्यक्रम में जिला अस्पताल को 50 लाख रुपए के प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया। साथ ही जिले के स्वास्थ्य केन्द्रों में सीएससी में कुनकुरी, बगीचा, तथा पीएससी में आरा, कुर्रेग तथा भेलवां को सांत्वना पुरस्कार प्राप्त हुआ। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2015 में जिला अस्पताल कायाकल्प योजना अंतर्गत राज्य में दूसरे स्थान पर रहा था। जबकि बीते साल अस्पताल को सांत्वना पुरस्कार मिला था। अस्पताल प्रबंधन और कर्मचारियों ने पूरे उत्साह के साथ इस वर्ष जिला अस्पताल की हर छोटी से छोटी व्यवस्था को दुरूस्थ किया एवं अस्पताल में आने वाले हर मरीज एवं उनके परिवारजनों की हर छोटी से छोटी सुविधा का ख्याल रखा गया। कायाकल्प योजना के तहत 27 जिले के जिला अस्पतालों की अगस्त से अक्टूबर तक  निरीक्षण टीम द्वारा जाँच की गई थी। जशपुर में निरीक्षण के लिए अंबिकापुर जिले की टीम आई थी। इसके बाद राज्य की टीम ने भी इसका जायजा लिया था। इस निरीक्षण के बाद अस्पताल में उपकरणों के रख-रखाव, स्वच्छता, वेस्ट मैनेजमेंट, वेस्ट मैनेजमेंट, संक्रमण सहायक सेवाएं और स्वच्छता पर अंक दिए गए थे। जांच सफ़ाई, रिकॉर्ड मेनटेंस, बाहरी वातावरण समेत दस बिंदू पर की गई थी।

केलेक्टर ने दी बधाई

कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला ने स्वास्थ्य विभाग के सभी कर्मचारियों को बधाई दी है। और यह उम्मीद जताई है कि आनेवाले वर्षां में भी जिला चिकित्सालय हमेशा पहले स्थान पर ही रहेगा। श्री तिवारी ने बताया कि पुरस्कार में मिले राशि का खर्च अस्पताल को मेनटेन करने के लिए एवं जनता व कर्मचारियों के सुविधाओं और जरूरतों पर ख़र्च की जाएगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *