Wednesday, January 17, 2018
Home > Slider > जशपुर के इस वीडियो को देख रहे हैं हजारो लोग …. आप भी देखिए ……

जशपुर के इस वीडियो को देख रहे हैं हजारो लोग …. आप भी देखिए ……

 

जशपुर जिले के गिनाबहार मिशनरी स्कूल में पालकों ओर प्रबन्धन के बीच तीखी तकरार का वीडियो सोशल मीडिया में जोर से वायरल हो रहा है ।फेसबुक में अबतक वीडियो को हजारों वियुज मिल चुके है जबकि 100 से ज्यादा लोगों ने इस वीडियो को शेयर किया है ।बीते 10 नवम्बर को गिनाबहार के मिशनरी स्कूल में स्कूल के प्रिंसिपल पुष्पा रानी द्वारा यहां की छात्राओं ने अश्लील टीका टिप्पणी का आरोप लगाया था ओर बच्चे प्रिंसिपल के खिलाफ आंदोलन पर उतारू हो गए थे । हांलाकि बाद में स्कूल के प्रिंसिपल को हटाने की खबर आई और यहां का मामला शांत हो गया …इस बीच स्कूल प्रबंधन ओर छात्रों के बीच तीखी तकरार हुई ।सोशल साइट के फेसबुक में पोस्ट किए गए इस वीडियो में भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा जशपुर के जिलाध्यक्ष असलम आजाद पालकों का प्रतिनिधित्व करते दिख रहे हैं और उनके साथ स्कूल प्रबंधन की तीखी नोक झोंक को दिखाया गया है । इस वीडियो को फेसबुक में जशपुर जिले के पत्रकार विश्वबन्धु शर्मा ने पोस्ट किया है । इनके पोस्ट पर 5.1k व्यूज मिल चुके हैं जबकि पोस्ट को करीब 100 लोगो ने शेयर किया है …..

केवल एक महीने के लिए हटाया गया ….

इस मामले में खाश बात यह है कि छात्राओं से बदतमीजी से पेश आने वाली प्रिंसिपल के विरुद्ध अभी भी कोई ठोश कार्यवाही नही मिली है ।कार्यवाही के सम्बंध में पूछे जाने पर कुनकुरी बीईओ पी के भटनागर ने बताया कि कार्यवाही के सम्बंध में उन्हें कोई जानकारी नही है उन्होंने बताया कि मौके पर जांच करके जिला कार्यालय को पूरी जानकारी उनके द्वारा सौंप दी गई है ।इधर इस मामले में प्रशासन की ओर से जनसंपर्क विभाग का कहना है कि प्रिंसिपल को फिलहाल एक महीने के लिए हटाया गया है ।इस बीच मामला जांच में है जांच होने पर कार्यवाही का स्वरूप बदल सकता है ….

कैसे होगी जांच ?

इस वीडियो में देख सकते हैं पालक ओर छात्र कितना खुलकर स्कूल के प्रिंसिपल पर आरोप लगा रहे है वह भी शिक्षा विभाग के मौजूदगी में ।इसके आलावा छात्राओं ने मीडिया के सामने चीख चीखकर पूरी बात बताई लेकिन प्रशासन को अभी भी न जाने किस जांच का इंतज़ार कर रही है ..पालक व भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के जिलाअध्यक्ष असलम आजाद का कहना है कि प्रशासन के जांच का आखिर पैमाना क्या है ?पालको ओर छात्राओं के खुलकर आरोप लगाने और मुखर होकर अपनी व्यथा बताईं फिर भी प्रशासन के पास न जाने कैसी मजबूरी है कि अब तक इस प्रिंसिपल के विरुद्ध किसी तरह की कोई कार्यवाही नही की गई ।जो कार्यवाही की गई है उससे वह संतुष्ट नही हैं …..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *