Friday, December 14, 2018
Home > Slider > पति ने कहा धर्म बदल लो, नहीं मानी तो शुरू हो गया संत्रास का  अंतहीन सिलसिला, खबर जरा हटके है, ध्यान से पढिये

पति ने कहा धर्म बदल लो, नहीं मानी तो शुरू हो गया संत्रास का  अंतहीन सिलसिला, खबर जरा हटके है, ध्यान से पढिये

जशपुर से सुनीता गुप्ता /सत्येंद्र पाठक की मुनादी ।।

 

अपने सनकी पति की प्रताड़ना से  प्रताड़ित 4 बेटियों की मां न्याय और सुरक्षा के लिए दर दर की ठोकरे खा रही है ।बताया जा रहा है कि पीड़िता का पति पीड़िता के ऊपर कई सालों से  धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बना रहा है लेकिन महिला अपना मजहब बदलने किसी भी सूरत में तैयार नही है ।इसका यही हठ उसपर हो रहे जुल्मों सितम का सबसे बड़ा शबब है ।  पूरे मामले का खुलाश शनिवार की सुबह उस समय हुआ जब महिला के पति ने आज फिर उसके साथ न केवल मार पीट किया बल्कि ईंट से हमला करके उसके पैर को घायल भी कर दिया ।महिला किसी तरह अपनी 2 बेटियों को साथ लेकर घर से निकली और वह राज्य महिला आयोग की सदस्य यायमुनि भगत के पास जा पहुची । पीड़िता ने महिला आयोग की सदस्या को इतनेवर्षों से मिल रही तमाम प्रताड़नाओं का एक एक किस्सा सुनाया जिसे सुनने के बाद रायमुनि भगत ने महिलाओं की सुरक्षा और न्याय दिलाने के काम मे जुटी सामाजिक संस्था सखी सेंटर के अधिकारियों से  फोन पर बात किया और आगे की कार्यवाही के लिए पीड़िता को सखी सेंटर को सौंप दिया जहाँ पीड़िता का सबसे पहले इलाज कराया गया और फिलहाल वह सखी सेंटर के सरंक्षण में है ।

‌राजयमहिला आयोग सदस्यता रायमुनि भगत ने मुनादी डॉट कॉम से दूरभाष पर हुई चर्चा के दौरान बताया कि महिला कई सालों से प्रताड़ित हो रही है ।धर्म परिवर्तन  केलिए  किसी महिला को प्रताड़ित करने का किसी को अधिकार नही है । उन्होंने बताया कि   महिला हिन्दू आदिवासी है जबकि इसका पति इसाई है ।पति चाहता है कि पीड़िता भी उसके धर्म मे शामिल हो जाय लेकिन वह हिन्दू धर्म को नही छोड़ना चाहती । उन्होंने आगे बताया कि महिलाओं को न्याय और सुरक्षा देने के प्रति आयोग और सरकार दोनों कटिबद्ध है और उसे हर हाल में न्याय दिलाया जाएगा ।

‌‌‌‌

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *