Wednesday, July 18, 2018
Home > Slider > महज दो घण्टे और “दलाल” सलाखों के पीछे,इसको कहते हैं पुलिसिंग !

महज दो घण्टे और “दलाल” सलाखों के पीछे,इसको कहते हैं पुलिसिंग !

 

 

कोतबा मुनादी ।।

इन दिनो जशपुर जिले में मानव तस्करी को लेकर पुलिस और प्रशासन के द्वारा 2007 से लगातार अभियान चलाया जा रहा है। इसके कारण मानव तस्करी के मामले कम हो रहे हैं। रोजगार के अभाव में पलायन करने वाले लोग जो दलालों के चंगुल में फंस जाते हैं| लेकिन अब ग्रामीणो मे जागरूकता देखने को मिल रही है मानव तशकरी को लेकर ग्रामीण भी अब जागरूक हो रहे है कोतबा चौंकि के फरसाटोली गाव मे एक मामला आया है जिसमे ग्रामीण परिजन ने अपने दो नाबालिक बच्चो की तशकरी होने की शंका पर कांसाबेल के सामाजिक संस्था जीवन झरना के सहयोग से पुलिस से मदद की गुहार लगाई जिस पर त्वरित कार्यवाही करते हुवे नवपदस्थ कोतबा चौंकी प्रभारी सी.पी.त्रिपाठी ने जिला पुलिस अधीक्षक प्रशान्त सिंह ठाकुर के निर्देश पर कोतबा से 100 किलोमीटर दूर झरसुगड़ा रेलवे स्टेशन से दो नाबालिकों को तस्कर के चंगुल से महज दो घण्टे के भीतर छोड़ाने ने सफलता हासिल की है दोनों नाबालिकों परिजन के सुपुर्द कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है

तमिलनाडु ले जा रहा था बच्चों को

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार प्रार्थी बजरंग चौहान पिता लोहर साय उम्र 40 वर्ष ग्राम फरसाटोली खालपारा का रहने वाला है 22/01/2018 को 18:40 बजे कांसाबेल के सामाजिक संस्था जीवन झरना के सदस्य प्रभात तिग्गा व नमिता चौहान के साथ कोतबा चौकीआकर एक लिखित आवेदन इस आसय का प्रस्तुत किया कि इसके दो नाबालिग बच्चे  हैं जिनको  गांव का मदन चौहानपिता रामलाल चौहान 37 वर्ष  बहला फुसलाकर कि तामिलनायडू बोरवेल गाडी मे काम करोगे तो अच्छा तनख्वाह पैसा 15000 रूपयेमहिना  तथा रहने का घर मिलेगा कहकर प्रलोभन एवं लालच देकर दिनांक 21.01.2018 को रात्री 09:00 बजे काम कराने तामिलनायडू ले जा रहा है| इसके पूर्व भी मदन चौहान कई लोगों को ले गया था|जिसकी सूचना के आधार पर कोतबा पुलिस रिपोर्ट दर्ज कर जिला पुलिस अधीक्षक प्रशान्त सिंह ठाकुर के मार्गदर्शन मे तत्काल सभी थानो की नाकेबंदी करते हुवे छानबीन शुरू करने पर पता चला की झरसुगड़ा रेल्वे स्टेशन पहुँच चुके है जिसके आधार पर टिम गठित कर झरसुगड़ा रवाना हुवे जहा मौके पर झरसुगड़ा रेल्वे स्टेशन पहुँच कर तलाश की गई तो प्लेट फॉर्म क्रमांक एक से आरोपी मदन चौहान के कब्जे से दोनों नाबालिकों को बरामद कर आरोपी को गिरफ्तार कर कोतबा चौंकी लाया गाया जहा कार्यवाही करते हुवे आरोपी को गिरफ्तारी कर नयायिक रिमाण्ड मे भेजा गया है व नाबालिकों को परिजन के सुपुर्द कर दिया गया है कार्यवाही मे चौंकी प्रभारी चन्द्र प्रकाश त्रिपाठी,प्रधान आरक्षक धर्मेन्द्र राजपूत,आरक्षक शरद बेहरा की अहम भूमिका रही

 

दो घण्टे मे बरामद हुवे नाबालिक

 

सामाजिक संस्था जीवन झरना व ग्रामीण परिजनो की जागरूकता व सूझबूझ की वजह से कोतबा पुलिस ने दो घण्टों के भीतर मानव तशकरी का शिकार हो रहे दो नाबालिकों को बरामद करने मे सफलता मिली है पुलिस ने बताया की टाटा से तमिलनाडू जाने वाली ट्रेन मे दोनों नाबालिकों को ले जाने के लिए तशकर टिकट कटा कर प्लेटफार्म क्रमांक 1 से रात्री 8:40 बजे बरामद किया गया व ट्रेन का छूटने का समय 8:50 था 10 मिनट भी विलम्ब होने पर बरामद कैरना और भी मुसकिल हो सकता था

कोतबा पूलिस ने बताया —-

प्रार्थी की शिकायत पट तत्वरित कार्यवाही करते हुवे नाकेबंदी कर छानबीन शुरू करने पर पता चला की झरसुगड़ा रेल्वे स्टेशन पहुँच गए जिस पर दबिश दे कर दो घंटे के भीतर दो नाबालिकों को तशकर के कब्जे से बरामद कर परिजनो को सुपुर्द कर दिया गया है,आरोपी के वीरुध धारा 363,370 भादवी के तहत अपराध पंजीबद्ध कर गिरफ्तार कर न्यायीक रिमाण्ड पर भेज दिया गया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *