Wednesday, December 19, 2018
Home > Slider > अब मनरेगा मे भी कटी GST, गुस्से में मजदूर ने कहा सरकार घर के बर्तन भी ले जाए……….

अब मनरेगा मे भी कटी GST, गुस्से में मजदूर ने कहा सरकार घर के बर्तन भी ले जाए……….

Bank reduce GST from account
Bank reduce GST from account

धमतरी से युवराज देवेंद्र की मुनादी ।।

 

जहां तक हमने सुना है कि जीएसटी की दरें सिर्फ खरीदी ब्रिकी या सेवाओं की आपूर्ति पर लागू की जाती है लेकिन धमतरी में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है यहां एक मनरेगा मजदूर के भुगतान की ही राशि में एक्सिस बैंक शाखा धमतरी ने जीएसटी लगाकर कटौती कर दी है । वही कटौती की जानकारी होने पर मनरेगा मजदूर के पिता जगदीश साहू ने इसकी शिकायत जिला प्रशासन से किया है…….
दरअसल भानपुरी के रहने वाले रेवाराम ने 4 साल पहले मनरेगा के तहत दो सप्ताह मेट काम किया था जिसका भुगतान उनके खातों में किया गया। वही मजदूरी भुगतान के लिए भटक रहे रेवाराम को जब इसकी जानकारी मिली तो वो एटीएम पैसे निकालने पहुंचा लेकिन एटीएम से पैसे नहीं निकले। जिसके बाद मजदूर ने बैंक के कर्मचारियों से संपर्क किया जहां उन्हे बताया गया कि उनका खाता लेनदेन नही होने की वजह से बंद है। वही मजदूर को बैंक के कर्मचारियों ने आवश्यक दस्तावेज जमा कराने की बात कही लेकिन दस्तावेज उपलब्ध कराने के बावजूद मजदूर को उनके मेहनत का पैसा नही मिला। बैंक के चक्कर काट रहे मजदूर उस वक्त हैरान रह गया जब उनके राशि में दो बार जीएसटी कटौती कर दिया गया। मजदूर का कहना है कि उनके साथ गलत हुआ है जबकि उन्हे भरे त्यौहार में भी पैसा मिल पाया । वही गरीब मजदूर के साथ एक तरह से मजाक है।मनरेगा मजदूर को न्याय दिलाने पहुंचे पीसीसी सचिव आनंद पवार का कहना है कि सरकार मनरेगा के प्रति असंवेदनशीलता बरत रही है वही टूटी फुटी तंत्र व्यवस्था के चलते मनरेगा व्यवस्था चरमरा गई है उन्होने कहा कि जीएसटी गब्बर सिंह टैक्स है जिससे पहले व्यापारी और अब मजदूर परेशान हो रहे है। फिलहाल अपर कलेक्टर के.आर.ओगरे ने मजदूर की शिकायत पर लीड बैंक मैनेजर से बातचीत की और मामले का निराकरण करने की निर्देश दिए है। वही शनिवार बैंक बंद होने की वजह से मजदूर के मामले का निराकरण नही हो सका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *