Thursday, January 18, 2018
Home > Slider > सरकार ने नौ लाख लोगों क़ो परेशानी से बचाया, चुनावी साल में सरकार का बड़ा तोहफा, पढ़िए और राहत की सांस लीजिये

सरकार ने नौ लाख लोगों क़ो परेशानी से बचाया, चुनावी साल में सरकार का बड़ा तोहफा, पढ़िए और राहत की सांस लीजिये

 

रायपुर मुनादी

 

अब उन लोगो के लिए एक अच्छी खबर है जो मात्रात्मक त्रुटियों के चलते जनजातीय समुदाय को मिलने वाली सरकारी योजनाओं से वर्षों से वंचित हो रहे थे । मात्रा में मामूली हेरफेर के चलते छग में कई वर्षों से जनजातीय योजनाओं से दूर इन जातियों की समस्या अब सरकार ने हमेशा के लिए खत्म कर दिया ।अब इन्हें त्रुटियों के चलते योजनाओं से दूर नही रहना पड़ेगा और इन्हें भी अब समुचित लाभ मिल पाएगा । शासन की ओर से दी गयी जानकारी के मुताबिक मात्रात्मक त्रुटियों के कारण कई वर्षों से संघर्ष कर रहे 27 जातियों के 85 उच्चारण विभेदों को मान्यता मिल गयी है । इन जातियों में भुइंहार, भुइँहर ,भुइहर , इसी तरह भुइयां जाति मात्रात्मक विभेद के चलते छह जातियों में बंट गया था जो अब जाति बनकर जनजातीय समाज का दर्जा प्राप्त कर लिया है।संवरा जाति भी 8 भागों में बंट गया था इसी तरह गोड़,धनवार,पंडो, नागवंशी ,खैरवार,मांझी,पथारी,कोडाकू, सहित कूल 27 जातियां मात्रात्मक त्रुटि का दंश झेल रही थीं ।
पूर्व में खड़िया जाति भी मात्रात्मक त्रुटि के चलते खड़िया ओर खरिया में बंटकर रह गया था ।अंग्रेजी लिपि में khariya लिखे जाने के चलते शासन ने इन्हें सामान्य जाति का दर्जा दे दिया था ।बाद में काफी संघर्ष के बाद कुछ वर्ष पूर्व सरकार ने खरिया ओर खड़िया में भेद खत्म कर दिया था।
बहरहाल,चुनाव से पूर्व सरकार ने 27 जातियों को मान्यता देकर लाखों जनजातियों को राहत देने का काम किया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *