Friday, September 21, 2018
Home > Slider > अब सरपंचों का सरकार के खिलाफ हल्ला बोल, 14 वें वित्त के पैसे से गांव का विकास करेंगे, अम्बानी का नहीं

अब सरपंचों का सरकार के खिलाफ हल्ला बोल, 14 वें वित्त के पैसे से गांव का विकास करेंगे, अम्बानी का नहीं

 

रायपुर मुनादी ।।

सरकार के एक और तुगलकी फरमान को मानने राज्य भर के सरपंचों ने इनकार करने शुरू कर दिया है। सरपंचों ने कहा है कि 14 वे वित्त का पैसा ग्रामीण विकास के लिए है अम्बानी विकास के लिए नहीं। अब धीरे धीरे इसके मुखालफत में सरपंच खड़े भी होने लग गए हैं।

दरअसल सरकार ने अपने ग्रमीण विकास मंत्रालय के द्वारा एक पत्र सभी जिला पंचायतों को भेजा है कि ग्रामीण विकास के लिए जो पैसा 14 वें वित्त मद से दिया जाता है उसकी 70 प्रतिशत राशि अनिवार्य रूप से मोबाइल टावर की क्षमता बढ़ाने और मोबाइल टावर लगवाने के लिए चिप्स को जमा करना होगा। सरपंचों का कहना है कि टावर का अपग्रेडेशन और उसका विस्तार मोबाइल कंपनी की जिम्मेदारी होती है । उसके अपग्रेडेशन और विस्तार से उनका भी फायदा होता है ऐसे में गांव के पैसे को खर्च करवाना सरकार की तानाशाही है और वे सरकार के इस आदेश को नहीं मानेंगे।

लिहाजा इस मुद्दे पर अब सरकार और सरपंचों का संघ आमने सामने आ गया है। सरपंचों का कहना है कि इसके लिए प्रशासन द्वारा डाला जानेवाला जबरिया दवाब को भी वे सहन नहीं करेंगे। सरकारी अधिकारी अब दवाब बनाएंगे हमे पता है लेकिन हम इस तरह के तुगलकी फरमान को नहीं मानेंगे।

2 thoughts on “अब सरपंचों का सरकार के खिलाफ हल्ला बोल, 14 वें वित्त के पैसे से गांव का विकास करेंगे, अम्बानी का नहीं

  1. Pata nahi hamare desh ko chalane walo ko kya ho gaya hai.mobile tower lagane ke liye gaon ke vikash ke liye rakha paisa ko use karna chahti hai.tower lagana jyada jaruri hai ki gaon ka vikash.abhi ese kitne goan hai janha buniyadi suvidha bhi nahi hai.sarkar ko kya ho gaya hai.mobile company ko bole wo tower lagaye.14 ve vitt ka paisa gramin vikash ke liye hai aur wo gramin vikash me hi lagna chahiye.main sarkar ke is faisle ko galat manta hu

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *