Wednesday, December 19, 2018
Home > Slider > पूर्व मंत्री का बेटा निकला अपहरणकर्ता, कारोबारी के पुत्र का किया था किडनैप, पुलिस ने सकुशल छुड़ाया

पूर्व मंत्री का बेटा निकला अपहरणकर्ता, कारोबारी के पुत्र का किया था किडनैप, पुलिस ने सकुशल छुड़ाया

लखनऊ मुनादी

चिनहट के कारोबारी अमित जायसवाल के बेटे शिवम उर्फ यशराज का अपहरण पूर्व मंत्री बादशाह सिंह के बेटे ने किया था। लखनऊ पुलिस ने शनिवार रात 1 बजे महोबा के खरेला स्थित पूर्व मंत्री के फार्म हाउस में छापेमारी करके छात्र को सकुशल मुक्त करा लिया। पुलिस ने पूर्व मंत्री के बेटे सूर्यदेव सिंह समेत तीन युवकों को गिरफ्तार करके अपहरण में इस्तेमाल एसयूवी बरामद कर ली है। वारदात में शामिल दो आरोपी फरार हैं, पुलिस उनकी तलाश कर रही है।

चिनहट स्थित गोयल इन्क्लेव के फेस-1 में रहने वाले अमित जायसवाल का बीबीडी विश्वविद्यालय के सामने ब्वॉयज हॉस्टल है। इसके अलावा वह देवां रोड पर महिन्द्रा का सर्विस सेंटर भी चलाते हैं। अमित का बेटा शिवम जायसवाल एक निजी स्कूल में 11वीं का छात्र है। शनिवार सुबह 7:30 बजे वह जनेश्वर मिश्र पार्क जाने की बात कहकर घर से निकला था। इसके बाद से शिवम घर नहीं लौटा।
कुछ देर बाद उसने अपने चाचा को फोन करके खुद का अपहरण होने की बात बताई। इसी के साथ उसने अपने पिता व गर्लफ्रेंड को व्हाट्सएप मैसेज भेजा कि सूर्यदेव ने उसका अपहरण कर लिया है और गोरखपुर की ओर ले जा रहा है। इसी के साथ शिवम ने मैसेज में गाड़ी का नंबर भी दिया। अपहरण की सूचना पर पुलिस ने जनेश्वर मिश्र पार्क के पास लगे सीसी कैमरों की फुटेज खंगाली। इसमें दिखा कि शिवम एक पजेरो गाड़ी में बैठ रहा है। इसके बाद गाड़ी वहां से चली गई।।
एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि शिवम ने अपहरणकर्ताओं के गोरखपुर की ओर जाने की बात बताई थी। इस पर लखनऊ पुलिस ने आईजी गोरखपुर से संपर्क करके मदद मांगी गई। पुलिस ने फैजाबाद रोड स्थित टोल प्लाजा की फुटेज चेक करवाई लेकिन उसमें उक्त गाड़ी नहीं दिखाई दी। इस पर पुलिस ने सीतापुर, रायबरेली व कानपुर रूट पर लगे सीसी कैमरों की फुटेज खंगालनी शुरू की। उन्नाव के नवाबगंज स्थित टोल प्लाजा की फुटेज में उक्त पजेरो गाड़ी जाती हुई दिखी। गाड़ी का नंबर अपहरणकर्ताओं की एसयूवी से मेल खा गया। पुलिस ने *नंबर के आधार पर गाड़ी की डिटेल खंगाली* तो वह पूर्व मंत्री बादशाह सिंह के बेटे सूर्यदेव सिंह की निकली। इसके बाद पुलिस ने सूर्यदेव का मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लिया तो तस्वीर साफ हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *