Monday, April 23, 2018
Home > छत्तीसगढ़ > जल त्रासदी, 40 प्रतिशत हैंड पंप सूखे, पानी को लेकर नहीं दिखाई जा रही गंभीरता, कैसे जिएंगे लोग,

जल त्रासदी, 40 प्रतिशत हैंड पंप सूखे, पानी को लेकर नहीं दिखाई जा रही गंभीरता, कैसे जिएंगे लोग,

जशपुर मुनादी ।।

नगरपंचायत बगीचा नगर मे स्थित हैंडपंपो में से 40%के हलक सूखने के कगार पर हैं।पर विभागीय उदासीनता का आलम यह है कि अब तक नगरपंचायत बगीचा द्वारा जल संरक्षण का कार्य प्रस्तावित होने के बावजूद प्रारम्भ नही हो सका है।

हम आपको बता दें कि नगर पंचायत बगीचा से होकर दोड़की और राजपुरी नदी बहती है।धीरे धीरे ग्लोबल वार्मिंग,एवं जलश्रोतों के माध्यम से अंधाधुध दोहन से जशपुर जिले के साथ ही बगीचा में भी जलस्तर दिनों दिन कम होता जा रहा है।पिछले दो वर्षों में कलेक्टर प्रियंका शुक्ला ने स्थिति को समझा ,और उनके निर्देश से जलसरंक्षण का कार्य शुरू हुआ।उसी तारतम्य में कलेक्टर के निर्देशानुसार इन दोनों नदियों को 5-7 जगहों पर अस्थाई रूप से गर्मियों के पूर्व ही बांध दिया जाता है।जिससे नगर पंचायत बगीचा का जलस्तर गर्मियों में भी सामान्य बना रहता था।कलेक्टर की इस पहल की तारीफ भी नगरवासी खूब करते हैं।

पर हम आपको बता दें अपनी विवादास्पद कार्यशैली के लिए नगर पंचायत बगीचा जाना जाता है,ग्रामीणों ने कई बार इस जलसरंक्षण का कार्य प्रारंभ करने हेतु निवेदन कर चुके हैं,और नगर पंचायत बगीचा में प्रस्ताव महीना पूर्व पारित भी है,पर क्रियान्वयन पर उदाशीनता कही न कहीं नगरवासियों का पेयजल हेतु जद्दोजहद,समस्या की गंभीरता की ओर इशारा भी कर रहे हैं।पर इंतजार है कि नगरपंचायत बगीचा कब जागेगा, कब जल संरक्षण का कार्य शुरू होगा, और कब लोगों को पेय जल की शुरू हो चुकी जद्दोजहद से मुक्ति  मिलेगी!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *