Sunday, July 15, 2018
Home > Slider > अस्पताल निरिक्षण की लगातार शुरू हुयी कवायद, लगता है अब काया कल्प होकर ही रहेगा अस्पताल का

अस्पताल निरिक्षण की लगातार शुरू हुयी कवायद, लगता है अब काया कल्प होकर ही रहेगा अस्पताल का

 

जशपुर मुनादी

 

राज्य महिला आयोग द्वारा जिला अस्पताल जशपुर के किये गए औचक निरीक्षण के बाद अस्पताल के कायाकल्प का अनुसंधान करने में अब सरकार पूरी तरह गम्भीर दिख रही है । एक सप्ताह के भीतर इस जिला अस्पताल में महिला आयोग सहित सरकार से सम्बद्ध नेता ओर राजनेताओं ने अस्पताल की निगरानी शुरू कर दी है ।4 दिन पहले छग ग्रामोद्योग वोर्ड के अध्यक्ष के निरीक्षण के बाद आज याने सोमबार को छग से राज्यसभा सांसद रणविजय सिंह जूदेव अचानक जिला अस्पताल पहुच गये । यहां पहुचकर उन्होंने जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों से उनका हाल चाल तो जाना ही साथ ही यहां मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी भी ली। जूदेव अस्पताल के सभी मरीज वार्ड में गये और वहां की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया । निरीक्षण के पश्चात जूदेव वहां मौजूद जिला स्वास्थ्य अधिकारी सिविल सर्जन, ओर यहां पदस्थ डाक्टरों को निर्देश दिया कि यहां आने वाले मरीजों को ज्यादा से ज्यादा सुबिधा दी जाय। उन्होंने भावुक होकर उनसे कहा कि यह वह अस्पताल है जहां बचपन मे उनका इलाज हुआ है इसलिए यह अस्पताल उनकी भावनाओं से जुड़ा है ।
गौरतलब है कि एक सप्ताह पहले यहां राज्य महिला आयोग की टीम ने औचक निरीक्षण किया था । निरीक्षण के दौरान आयोग को इस अस्पताल में ढेर सारी कमिया दिखी और आयोग ने सारी कमियों को मीडिया के सामने उजागर कर दिया। यह बताना भी लाजमी होगा कि एक माह पहले जशपुर जिला अस्पताल को कायाकल्प योजना के तहत प्रथम पुरस्कार भी मिला है । आयोग द्वारा कमियों को उजागर करने के बाद कायाकल्प के प्रथम पुरस्कार पर भी सवाल उठने लगे थे ।

हर अस्पताल का करेंगे निरीक्षण

सांसद रणविजय सिंह जूदेव के साथ मुनादी डॉट कॉम की हुई चर्चा में उन्होंने कहा कि अस्पताल इंसान के लिए सबसे जरूरी व्यवस्था है इसलिए केवल जिला अस्पताल ही नही बल्कि जिले के सभी अस्पतालों का वह दौरा करेंगे और यह जानने की कोशिश करेंगे कि यहां क्या कमिया हैं या कमिया नही हैं तो जनता के बेहतरी के लिए और क्या बेहतर किया जा सकता है । यह बता दें कि जशपुर जिले से ट्रामा सेंटर की वापसी के बाद विपक्ष ओर सत्ता से भी जुड़े कुछ लोग जशपुर की फिसड्डी स्वास्थ सुबिधा को लेकर आवाज उठाते रहे हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *