Friday, September 21, 2018
Home > Slider > सोची थी पढ़ लिखकर नौकरी करुँगी, माँ का सहारा बनूँगी, भ्रष्ट अधिकारिओं ने तो जीने लायक भी नहीं छोड़ा

सोची थी पढ़ लिखकर नौकरी करुँगी, माँ का सहारा बनूँगी, भ्रष्ट अधिकारिओं ने तो जीने लायक भी नहीं छोड़ा

 

जशपुर मुनादी

 

अब मैं जीकर करूंगी क्या?अगर जिंदा रह भी गयी तो अपनी बूढ़ी माँ और छोटे भाई का परवरिश कैसे करूंगी ?यहां योग्यता नही प्रशासन को केवल पैसा चाहिए और हमारे पास पैसे नही है इसलिए मेरी योग्यता को नकारकर आर्थिक रूप से योग्य महिला का चयन कर लिया गया।
यह कहना है पत्थलगांव विकासखण्ड के सुरुंगपानी की रहने वाली कामना चौहान की ।कामना चौहान अभी हाल ही में नियुक्त किये गए पंचायत वयाख्याताओं में से एक थी लेकिन काउंसिलिंग होने के बावजूद आखिरी सूची से आखिरी ववत में उसका नाम हटा दिया गया और उसकी जगह निशा सिंह नाम की एक महिला को नियुक्त कर दिया गया। बीते 12 दिसम्बर मंगलवार को कलेक्टर जनदर्शन में उसने जशपुर कलेक्टर से इस बावत शिकायत भी की है।
शिकायत में उसने बताया है कि उसने जिला पंचायत जशपुर द्वारा विज्ञापित वयाख्याता पंचायत (वाणिज्य) के लिए आवेदन प्रस्तुत किया था।उसके आवेदन पर मैरिट के हिसाब से पहली सूची में उसका नाम भी जारी कर दिया गया और 16 नवम्बर को उसकी काउंसलिंग भी करायी गई किंतु आखिरी समय मे जब आखिरी सूची जारी हुई तो उसके जगह निशा सिंह का चयन कर लिया गया । शिकायत में उसने निशा सिंह के द्वारा प्रस्तुत बीएड प्रमाण पत्र पर भी सवाल उठाए हैं और उसकी जांच की मांग की है।

आवेदिका कामना चौहान ने मुनादी डॉट कॉम को बताया कि जिला पंचायत द्वारा उसके साथ चीटिंग की गयी है ओर इस चीटिंग से वह डिप्रेशन की शिकार हो गयी है । उसे कुछ सूझ नही रहा कि वह क्या करे और क्या न करे ।उसने बताया कि उसके पिता जी बचपन मे ही मां और छोटे भाई को छोड़कर दुनिया से चल बसे ।ऐसे में मां ने बहुत मुश्किल से उसे पढाया लिखाया ओर पढ़ लिखकर जब नौकरी करने की बारी आयी तो उसकी योग्यता को ठोकर मार दिया गया। उसने कहा कि जिला पंचायत यह स्पष्ट क्यों नही करता कि काउंसलिंग के बाद भी उसका नाम चयन सूची से क्यों हटाया गया । अगर उसकी मैरिट नही थी तो पहली सूची में उसका नाम जोड़कर उसे काउंसिलिंग में क्यों बुलाया गया ? उसने बताया कि उसके आवेदन दिये आज 9 दिन हो गए लेकिन अब तक उसके आवेदन की सुनवाई नही की गयी है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *