Saturday, September 21, 2019
Home > समाचार > अपनी बदजूबानी के चलते बुरे फंसे नेता जी , थाने में हाजिर हो सकते हैं कांग्रेसी नेता , शिकायतों का मजमून तैयार

अपनी बदजूबानी के चलते बुरे फंसे नेता जी , थाने में हाजिर हो सकते हैं कांग्रेसी नेता , शिकायतों का मजमून तैयार

Munaadi News

जशपुर मुनादी।।

नेता जी v/s गुरुजी के बीच फोन पर हुई गरमा- गरमी सोशल मीडिया में कल से ही वायरल हो रहा है ।दरअसल जशपुर जिले के दुलदुला पतराटोली में पदस्थ शिक्षक संघ के नेता सूर्यवंशी और कांग्रेस पार्टी के दुलदुला ब्लॉक अध्यक्ष सागर यादव के बीच फेसबुक में पोस्ट और कमेंट को लेकर फोन पर जमकर तू तू मैं मैं हुआ और फोन पर हुई लड़ाई थोड़ी ही देर में सोशल मीडिया में जंगल की आग की तरह फैल गयी और अब यह मामला थमता हुआ नही दिख रहा है बल्कि इस मामले को लेकर अब नेतागिरी और केस -मुकदमा भी शुरू होने वाला है ।

वायरल ऑडियो में शिक्षक संघ के नेता सूर्यवंशी और कांग्रेस पार्टी के ब्लॉक अध्यक्ष नरसिंह सागर यादव के बीच न केवल तू तू मैं मैं बल्कि गाली ग्लौज भी सुना जा सकता है ।शिक्षक सूर्यवंशी का कहना है कि कांग्रेसी नेता नरसिंह सागर यादव उन्हें काफी लंबे समय से परेशान कर रहा था और जबसे प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनी है तब से उसने उसका जीना दुर्भर कर दिया है ।शिक्षक ने अपने फेसबुक में खुद का फोटो सहित कुछ स्टेटस पोस्ट किया था जिसपर कमेंट करते हुए कांग्रेसी नेता ने लिख दिया कि पढ़ाई से ज्यादा आपका ध्यान फैशन पर है ।बस यही कमेंट इनके बीच फसाद का जड़ बन गया।सूर्यवंशी ने बताया कि नेता जी के कमेंट के बाद उसने उनके व्हाट्सअप पर अनर्गल टिप्पणी नही करने का केवल निवेदन किया और वो फोन पर भड़कने लगे और भड़कते भड़कते गालियों की बौछार करने लगे आखिर में जब इनसे भी बर्दाश्त नही हुआ तो इन्होंने भी तू तडाक शुरू कर दिया। शिक्षक का कहना है कि कांग्रेसी नेता के द्वारा जगह जगह जाकर उसे शराबी होने का बाहियाद प्रचार प्रसार कर रहा है जिससे उसकी मानहानि तो हो रही है वह मानसिक पीड़ा से भी गुजर रहा है ।कल की घटना के बाद उसे और ज्यादा आहत होना पड़ा है इसलिए वह हरिजन थाने में मामले की शिकायत तो करेगा ही विभाग में भी पूरे मामले की शिकायत की जाएगी ताकि उसे भय से मुक्ति मिल सके ।

इधर सागर यादव का कहना है कि शिक्षक पढ़ाने के बजाय फैशन और शराबखोरी में मस्त रहता है जिसके चलते कई बार उसे सस्पेंड किया जा चुका है ।शराब के नशे में पैसे मांगना और दिन भर नेतागिरी करना शिक्षक का बहुत बड़ा शौक है जिसके चलते नौनिहालों का भविष्य गर्त की ओर जा रहा है ऐसे शिक्षक के खिलाफ कार्यवाही होनी चाहिए ।सागर यादव का कहना है कि उसने स्वयं शिक्षक को शराब पीने के कई बार पैसे दिए हैं ।

बहरहाल बात निकली है तो अब दूर तक जाना निश्चित जैसा लग रहा है क्योंकि न तो शिक्षक अपनी गलती मानने को तैयार है न ही नेताजी को अपनी बदजुबानी पर थोड़ा सा भी मलाल है ऐसे में बात रुकने के बजाय बढ़ेगी ही ।

munaadi ad munaadi ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *