Saturday, September 22, 2018
Home > Slider > 25-30 सीटों के लिए छत्तीसगढ़ में तरस जाएगी भाजपा, पार्टी के आंतरिक सर्वे से खुलासा, सरकार बना रही रणनीति

25-30 सीटों के लिए छत्तीसगढ़ में तरस जाएगी भाजपा, पार्टी के आंतरिक सर्वे से खुलासा, सरकार बना रही रणनीति

 

 

सेंट्रक डेस्क मुनादी

 

राज्य में चौथी बार सरकार बनाने के लिए तैयार भाजपा के लिए खुद के सर्वे ही मुसीबत बनते जा रहे हैं। भाजपा का राज्य नेतृत्व अपने केंद्रीय नेतृत्व को यह समझा ही नहीं पा रहा है कि छत्तीसगढ़ में इस बार फिर भाजपा सरकार बना पाएगी। सभी सर्वे इस पार्टी के प्रतिकूल जा रहे हैं। इनका सकारात्मक पक्ष सिर्फ यह है कि कोई सशक्त विरोधी इनके खिलाफ मैदान में नहीं है।

तीन बार विपक्षी विकल्पहीनता के रथपर सवार होकर अपनी सरकार बना चुकी सरकार इस बार भी इसी भरोसे सरकार बनाने का सपना पाल बैठी है। पार्टी सयंत्रों के अनुसार पार्टी के आंतरिक सर्वे में ही इन्हें 25 से 30 सीट से ज्यादा मिलने के अनुमान नहीं किये जा रहे है। सूत्रों के अनुसार भाजपा का आन्तरिक सर्वे 60 प्लस लक्ष्य दिए जाने के बाद करवाई गई जिसे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने दी थी। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता के अनुसार भाजपा के जनप्रतिनिधियों का व्यवहार इसके लिए ज्यादा जिम्मेदार है। सबसे ज्यादा मंत्रियों का व्यवहार आम लोगों के अलावा कार्यकर्ताओं से भी रूखापन का हो गया है। मंत्रीगण कार्यकर्ताओं से सीधे बात तक नहीं करते। इससे कार्यकर्ता भी बेहद नाराज हैं और वे सरकार को सबक सिखाना चाहते हैं।

सब तबका नाराज

ऐसे सर्वे के बाद भी छत्तीसगढ़ सरकार लगातार ऐसे कदम उठा रही है जिससे लोगों में आक्रोश पनप रहा है। गांवों का पैसा टावर के लिए देने के आदेश से ग्रामीण नाराज हैं, उज्ज्वला योजना में गैस तो मिली पर सिलेंडर भरवा नहीं पाने से वे उपभोक्ता नाराज हैं, एक एक धान खरीदने का वादा करके प्रति एकड़ 15 क्विंटल धन खरीदने से किसान नाराज हैं, भू-राजस्व संशोधन विधेयक से आदिवासी नाराज हैं, शिक्षाकर्मी सहित तमाम राज्य कर्मचारी पहले से नाराज हैं, दवाब के कारण व्यापारी नाराज हैं, बाजार की मंदी से उद्योगपति नाराज हैं, छटनी और बेरोजगारी से युवा नाराज हैं, नेताओं के दुर्व्यवहार के कारण भाजपा कार्यकर्ता नाराज हैं । ऐसे में सरकार के लिए सिर्फ एक वजह खुशी की बचती है कि जनता विकल्प नहीं ढूंढ पा रही है।

सरकार के प्रति सकारात्मक बातें ये हैं

गांवों में चलाए जा रहे प्रधानमंत्री आवास योजना, तेंदूपत्ता बोनस और किसी पार्टी का सशक्त रूप से सामने न आना सरकार के प्रति सकारात्मक है। जोगी के कारण विपक्षी वोटों के बंट जाने से भी सरकार को लाभ मिल सकता है इसलिए सरकार और उसके मंत्री जोगी पार्टी के प्रति हमलावर नहीं हैं।

2 thoughts on “25-30 सीटों के लिए छत्तीसगढ़ में तरस जाएगी भाजपा, पार्टी के आंतरिक सर्वे से खुलासा, सरकार बना रही रणनीति

  1. २० २५ क्या इस बार ०००मे बी जेपी खतम सत्ता के नशे मे चूर मंत्री नेताओ को जनता को भुगताने के अलावाऔर क्या किया है। किसी भी सुविधाऔ को सरल करने के बजाय कठिन किया गया।
    उनको मिडीया वाले बताऔ मत कि २-४ सीटो मे जीत रही है ।कह दो कि पूरे ९० सीटो पर उनकी बपौती है। सब सीट बीजेपी का है ।और इस बार रिकार्ड बनने वाला है। और कह दो मोदी के मैजिक का कमाल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *