Friday, September 21, 2018
Home > Slider > चैटिंग, दोस्ती और अपहरण, फेसबुक से जेल तक का सफर करना पड़ गया दोस्त को, पढ़िए असली इनसाइड स्टोरी

चैटिंग, दोस्ती और अपहरण, फेसबुक से जेल तक का सफर करना पड़ गया दोस्त को, पढ़िए असली इनसाइड स्टोरी

 

 जशपुर मुनादी

 

27 दिसंबर  को मैहर शहर में ऐसी घटना घटी जिसने न केवल पुलिस के हाथ पाँव सुखा दिए बल्कि घटना की जानकारी जिसे भी लगी सबको आश्चर्य में डाल दिया।  सबके जहन में सिर्फ़ एक ही सवाल कौंध रहा था की आखिर माँ बेटी अपने पति परिजनो को छोड़कर गयी कहां ? कुछ ही समय में मामला हाई प्रोफाइल बन चुका था।  महिला और बच्ची को ढूढ़ निकालने का दबाब न केवल मध्यप्रदेश सरकार बल्कि छतीसगढ़ सरकार पर भी आ गया था । सूत्र यहाँ तक बताते है की मामले में सेन्ट्रल मिनिस्ट्री तक  का दबाव आने लग गया था।

मामले की पड़ताल और बरामदगी के बाद मामले में जो तथ्य निकल कर आया वह काफी चौकाने वाला था। पत्थलगांव जिला जशपुर के गोयल परिवार की बहु अपने फेसबुक दोस्त के साथ अपनी बच्ची को लेकर इसलिए गोल हो गयी थी क्योकि वह अपने पति से परेशान थी और गुम होकर पति को सबक सिखाना चाहती थी।
पुलिस से  मिली जानकारी के अनुसार  गोयल परिवार की बहु ने जो खुलासा किया उसमे यह बात निकलकर सामने आई की वह अपने पति की  हरकतों से परेशान थी। उसने बताया की उसके पति के अन्य महिलाओं से सम्बन्ध है जिनका वह वर्षो से प्रतिकार करती आ रही थी जब पति लड़ाई झगड़े के बाद भी कोई असर नहीं हुआ तो उसने उसे सबक सिखाने की नियत से अपने फेसबुक के दोस्त नितिन गौड़ निवासी बनारस उत्तरप्रदेश को मैहर बुलाकर उसी के साथ बनारस चली गयी, जहाँ उसके फेसबुक दोस्त ने किराए का मकान दिलाकर उसके रहने की व्यवस्था करा दी। जहाँ से मैहर पुलिस ने महिला सहित बच्ची को बरामद किया ।

इस मामले में साथ मे 3 वर्षीय बच्चे के महिला के साथ होने से यह मामला अपहरण का बन गया जिसके बाद पुलिस ने महिला के फेसबुक फ्रेंड नितिन गौड़ को भी अपने  साथ ले आई जहाँ उस पर अपराध क्रमांक 947/17  धारा 363,366ता.हि के तहत अपराध दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया जहा से आरोपी को  रिमांड पर जेल भेज दिया। 
              
मामले में आरोपी नितिन गौड़ ने बताया की उक्त महिला की दोस्ती फेसबुक के जरिये 5 से 7 वर्ष पूर्व हुई थी एक बार महिला अपने परिवार के साथ बनारस भी गयी थी उस वक्त उसकी मुलाक़ात भी हुई थी। महिला अपने पति की हरकतों से  परेशान रहती थी जिसका जिक्र वह अपने करती थी  इसी दौरान वह मैहर आई और अपने फेसबुक दोस्त को मदद के लिए मैहर बुला सहेली से मिलने जाने के बहाने पति ननद नन्दोई को छोड़ यहाँ तक की अपने एक मासूम लड़के को छोड़कर रफूचक्कर हो गयी।
          मामले में एस डी ओ पी अरविन्द तिवारी ने बताया की साइबर सेल एक वर्ष का काल डिटेल निकाला गया उसमे एक ऐसा नंबर मिला जिस नम्बर से महिला के नम्बर के एक वर्ष में 335 बार बातचीत होना पाया गया पुलिस ने उक्त नम्बर की पतासाजी की तो पता चला की वह नम्बर रजिस्टर किसी और के नाम है उपयोग कोई और कर रहा है लेकिन जब पुलिस ने उक्त नम्बर द्वारा अन्य लोगो से की गयी बातचीत पर संपर्क किया गया तो सिम का उपयोग करने वाला नितिन गौड़ पुलिस गिरफ्त में आ गया जिसके बताये अनुसार किराए के माकान से महिला और बच्ची को सकुशल बरामद कर लिया गया। काल डिटेल खगालने पर पुलिस को यह भी पता चला की उक्त नम्बर जिस दिन महिला गायब हुई मैहर में उसकी लोकेसन मौजूद पायी गई थी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *