Home > संस्कृति (Page 3)

कहाँ टूटी 600 साल की परंपरा, नही पड़ी बकरों की बली, देवी कैसे हुई प्रसन्न

रायगढ संतोष की मुनादी ।। करमागढ में पिछले 600 सालों की परंपरा टूट गई है। यहां प्रतिवर्ष मां मानकेश्वरी देवी को प्रसन्न करने के लिए सैकडों बकरों की बली दी जाती है। लेकिन इस साल ऐसा नहीं हुआ। ना तो बल पूजा हुई और ना ही बैगा ने बकरों का खून

Read More

कहाँ हुआ गढ़ विछेदन, देखिये वीडियो…..

मुनादी परंपरा ।। दशहरा के दूसरे दिन सारंगढ़ में गढ़ विच्छेदन किया जाता है। इसमें एक नकली महल बनाया जाता है है और जो भी प्रतिभागी इस किले पर पहले पहुंचता है उसे विजेता घोषित किया जाता है। यह परंपरा के सालों से यहां जारी है। कहा जाता है कि यह परंपरा

Read More

किस जनपद सदस्य ने कहा मत जलाओ रावण का पुतला, पुलिस को क्यों दिया ज्ञापन

रायगढ़ मुनादी।। जोबी चौकी के गोरपार जनपद के सदस्य भैयालाल राठिया ने चौकी में आवेदन देकर रावण दहन पर रोक लगाने की मांग की। उनके साथ कई और सरपंच और प्रतिनिधियों ने ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया है। ज्ञापन में कहा गया है कि रावण चूंकि आदिवासी कुल का था और वह हमारा

Read More