Thursday, April 19, 2018
Home > Slider > दान में कपड़े लिए फिर जला दिए, विरोध करने अनोखा तरीक़ा निकला युवाओं ने, पढ़िए आँकड़ों का सच

दान में कपड़े लिए फिर जला दिए, विरोध करने अनोखा तरीक़ा निकला युवाओं ने, पढ़िए आँकड़ों का सच

 

 

रायगढ़ मुनादी ।।

 

 

पहले ग्रामीणों ने घर-घर घुम कर पुराने कपड़े लिए फिर ऐसा क्या हुआ कि दान में लिए कपड़े को जला दिए। दरअसल मामला एनटीपीसी से जुड़ा हुआ है। एनटीपीसी लारा प्रभावित गांव के बेरोजगारों को नौकरी नहीं देने से जुड़ा हुआ है। 

छपोरा में इन दिनों एनटीपीसी लारा प्रभावित गांव के ग्रामीण हड़ताल पर डटे हुए हैं। एनटीपीसी लारा के प्रभावित कंपनी में नौकरी नहीं मिलने को लेकर आक्रोशित हैं। उनका कहना है कि एनटीपीसी ने उनका जो था वो तो सब ले लिया। जब नौकरी की बारी आई तो ठेंगा दिखा दिया। पहले नौकरी देने से सहित तमाम तरह के वायदे किए गए थे। बाद में एनटीपीसी प्रभावित गांव के पढ़े लिखे युवाओं को कंपनी में नौकरी देने को तैयार नहीं है। इसके विरोध में ग्रामीण आज बड़माल, कांदागढ़, झिलगीटार व बोड़ाझरिया आदि गांव से पुराने कपड़े लेकर इकट्ठा किया और विरोध में छपोरा गांव के मुख्य चौक में एनटीपीसी के खिलाफ हल्ला बोलते हुए दान में लिए कपड़े का हवन चढ़ा दिया।

एनटीपीसी प्रभावित गांव के युवाओं का कहना है कि हमारे पास जो था वो तो सब एनटीपीसी ने ले ही लिया है बचा तो कुछ है नहीं इसलिए दान में भी जो मिल रहा है उसे एनटीपीसी के नाम पर हवन कुण्ड में डालकर आग के हवाले कर दी गई ऐसा कर एनटीपीसी को सद्बुद्धी लाने की प्रार्थना की गई। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *