Wednesday, December 19, 2018
Home > Slider > पहले लोक सुराज फिर भी नहीं माने तो भाजपा नेताओं का भी होगा बहिष्कार, लोगों ने नेताओं को सुनाई खरी खरी

पहले लोक सुराज फिर भी नहीं माने तो भाजपा नेताओं का भी होगा बहिष्कार, लोगों ने नेताओं को सुनाई खरी खरी

 

जशपुर मुनादी

बुनियादी समस्याओं से वर्षो से जूझ रहे बगीचा जनपद के कलिया बुटँगा ओर गैलूँगा पंचायत के सैंकड़ो लोगो का कल कलिया ग्राम पंचायत में बड़ा जमावड़ा लगने जा रहा है । बताया जा रहा है कि 3 पंचायत के करीब 10 गाँव के लोग प्रशासन और राजनेताओं के वादाखिलाफी के विरोध में सामूहिक मोर्चा खोलने जा रहे है । सड़क जैसी बुनियादी सुबिधा के लिए वर्षो से प्रशासन और राजनेताओं से गुहार लगाकर थक चुके इन गाँव के लोगो ने सरकार की सबसे लाभकारी योजना लोक सूराज अभियान के बहिष्कार के बाद सरकारी नेताओं के बहिष्कार पर बुधवार को नयी नीतियां बनायी जाएंगी इस लिहाज से प्रभावित पंचायतों के सभी ग्रामीणों को कल सुबह 11 बजे तक एकत्र होने की मुनादी करा दी गयी है । ग्रामीणों का कहना है कि प्रशासन हो या जशपुर जिले के राजनेता सभी ने मिलकर उन्हें आजतक केवल छलने का काम किया है ।झूठे आश्वाशन ओर लुभावने वायदे करके वोट के तौर पर आजतक केवल उनका इस्तेमाल होता रहा उनकी समस्या एक नही सुनी गयी नतीजतन क्षेत्र के लोग आज तक बुनियादी सुविधाओं से महरूम हैं ।
प्रेस वार्ता से कुछ नही होगा सड़क बनाइये
हम आपको बता दें कि 2 दिन पहले इन ग्रामीणों के आक्रोश ओर मांग को मुनादी डॉट कॉम ने प्राथमिकता से प्रकाशित किया था ।खबर प्रकाशन के बाद मंगलवार को खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष कृष्णा राय द्वारा आज जानकारी दी गयी कि शासन ने इन गांवों को सड़क से जोड़ने शासन द्वारा 5 करोड़ रुपये की स्वीकृति दे दी गयी है और शीघ्र ही इस पर कार्य शुरू कर दिए जाएंगे । शासन द्वारा 5 करोड़ स्वीकृत किये जाने की खबर सोशल मीडिया में जंगल की आग की तरह फैल गयी । सोशल मीडिया की इस खबर पर प्रतिक्रिया भी शुरू हो गयी ।ग्रामीणों का कहना है कि उन्हें शासन की घोषणा ओर वायदों पर भरोसा नही है क्योंकि अब तक क्षेत्र के लिए किए गए सभी सरकारी वायदों की कोई पूछ परख नही है ।इनका साफ कहना है कि कागजी नही वे जमीन पर काम देखना चाहते है ।जब तक जमीन पर काम नही होगा उनका बहिष्कार जारी रहेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *