Friday, December 14, 2018
Home > Slider > आदिवासियों ने कहा -हमारे पुरखों की जमीन पर दलाल जबरदस्ती कब्जा कर रहे हैं साहब , डीएफओ ने कहा -करेंगे कड़ी कार्यवाही 

आदिवासियों ने कहा -हमारे पुरखों की जमीन पर दलाल जबरदस्ती कब्जा कर रहे हैं साहब , डीएफओ ने कहा -करेंगे कड़ी कार्यवाही 

 

पत्थलगांव मुनादी ।।

 

गत दिवस दो तीन दिनों तक नन्दन झरिया के बॉस रोपित भूमि सेलगभग डेढ़ एकड़ भूमि मे रोपित पहाड़ी बास एवं सी पी टी गड्ढे के किनारेरोपित लाखो रुपये के बास ओर पेड़ो को उखाड़ कर जमीदोज कर दिया जिसकीजानकारी मिलने वन विभाग की टीम वहा पहुच कर जमीन समतल के बहाने उखाड़े जारहे बास और पेड़ की कटाई पर रोक लगाते हुए जे सी बी और आरोपियों को छोड़ सिर्फ ट्रेक्टर को जप्त कर2लाया गया आज लगभग एक सप्ताह हो गया है किन्तु अब तक कोई ठोस कार्यवाही नही होने से लोग वन विभाग की कार्यवाही पर सवाल उठा रहे हैं वही पर्यावरण प्रेमियो मे पेड़ो की कटाई करने वालो के विरुद्ध अब तक कार्यवाही नही होने को लेकर वन विभाग से आग्रह किया है कि पर्यवरण को नुकसान पहुचाने वालो के विरुद्ध कठोर कार्यवाही किया जाये।पर्यावरण प्रेमियो द्वारा यह भी योजना बनाया जा रहा है कि जिम्मेदार विभाग यदि कोई ठोस कार्यवाही नही करती है तो वे मामले को लेकर उच्च न्यायालय की शरण मे जाएंगे और वनों की अवैध कटाई करने वालो के साथ साथ ऐसे अपराधियो को बचाने वालो के विरुद्ध जनहित याचिका दायर करेंगे।

 

 

 

पुरखो की जमीन पर जबरदस्ती कब्जा

 

 

 

गरीब आदिवासी परिवार के धर्मेन्द्र तिर्की ने राजस्व प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि हम पुरखो से कास्त करते आ रहे कुछ निजी भूमि तथा कुछ नजूल भूमि जिसे भी हमारे गरीब व अनपढ़ होने के कारण हमारे पूर्वजों की 100 वर्षो से पूर्व से काबिज भूमि को जमीन दलालो से कब्जा कराया जा रहा है,धर्मेंद्र कहना है कि लोग कहते है कि सरकार वर्षो से कमाते खाते आ रहे गरीबो को नजूल सहित वन भूमि का पट्टा दे रही है वही हमे भूमिहीन किया जा रहा है ऐसे में हम जाये तो किसके पास जाये, हमारा कोई सुनता ही नही।तिर्की परिवार ने अपने को अनपढ़ व गरीब बताते हुवे जिला कलेक्टर के माध्यम से मुख्यमंत्री जी से न्याय दिलाने की मांग किया है।

 

कड़ी कार्यवाही का भरोसा दिलाया

 

पूरे मामले में डीएफओ ने कड़ी कार्रवाई कराने का अश्ववाशन दिया है वहीं रेंजर ने बताया कि वन काटने हेतु मामला दर्ज कर दिया गया है और वन भूमि मामले की एसडीएम कोर्ट में अपील भी हो गई है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *