Friday, December 14, 2018
Home > Slider > आपके होश उड़ जाएंगे …..सिगरेट और शराब पीने से यह भी होता है क्या ?

आपके होश उड़ जाएंगे …..सिगरेट और शराब पीने से यह भी होता है क्या ?

 

दिनांक 6 अक्टूबर 2017 को पुलिस लाइन जशपुर में एक दिवसीय स्वास्थ्य परीक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया आयोजन में सर्वप्रथम धूम्रपान जैसे तंबाकू के उत्पादों के संबंध में रोक लगाने तथा धूम्रपान से दूर रहने के निर्देश दिए गया।

इस दौरान डॉक्टर के आर खुसरो ने बताया कि 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस के तहत तंबाकू नियंत्रण कानून का पालन करने तथा धूम्रपान से होने वाले स्वास्थ दुष्प्रभाव पर विशेष अभियान चलाकर पूरे विश्व को तंबाकू से निजात दिलाने की जरुरत है ।डॉक्टर अबरार उजमा खान मनोवैज्ञानिक राजा देव शरण जिला चिकित्सालय जशपुर के द्वारा धूम्रपान तथा शराब सेवन से दूर रहने  तथा इसपर ध्यान देने योग्य कुछ बातें बतायीं जैसे धूम्रपान से निषेद क्यों ?यदि कोई भी व्यक्ति धूम्रपान करता है तो उसका मानसिक स्थिति कैसा होगा जिस के कुछ लक्षण बताए गए जैसे वह व्यक्ति जो धूम्रपान करते हैं तथा शराब का सेवन करते हैं उसका मानसिक स्थिति खराब होता है एवं वह उदास भी रहते हैं समाजिक एवं पारिवारिक जीवन के साथ साथ वह अपने जीवन को गंभीर बीमारियों की ओर ले जाते हैं एवं किसी भी कार्य पर रुचि नहीं रखते वह कभी-कभी आत्महत्या का भी प्रयास करते हैं ऐसा हमने देखा है कि जो व्यक्ति शराब एवं किसी भी नशीली वस्तु जैसे बीड़ी सिगरेट गुटखा खैनी गांजा भांग का सेवन करते हैं वे अत्यधिक डिप्रेशन में रहते हैं,

इसी दौरान मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर डीके अग्रवाल ने बताया कि पुलिस की नौकरी में सभी अधिकारी कर्मचारी व्यस्तता के कारण अपने परिवार को ज्यादा समय नहीं दे पाते है जिसके कारण डिप्रेशन में रहते हैं तथा उनकी मानसिकता ये रहटी है की कब अपने परिवार को समय दे सकें जिसके कारण धीरे-धीरे रे शराब धूम्रपान करने लग जाते हैं तथा कई इसके आदी भी हो जाते हैं डॉक्टर ने बताया कि ऐसे अधिकारी-कर्मचारी इस तरह के बिल्कुल ना करें कि वह डिप्रेशन की ओर चले जाएं वह अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दें तथा धूम्रपान व शराब सेवन से दूर रहें डॉक्टर ने बताया कि यदि कोई भी व्यक्ति नशे का सेवन करता है तो उनको किसी प्रकार का कोई लाभ नहीं होता बल्कि मानसिक शारीरिक तथा आर्थिक स्थिति खराब होने के साथ-साथ स्वास्थ्य पर बड़ा दुष्प्रभाव पड़ता है,

इस संबंध में डॉक्टर की बातों पर सहमत होते हुए प्रभारी रक्षित निरीक्षक सूबेदार श्री जीतेंद्र कुमार चंद्रा ने बताया कि पुलिस कर्मचारी को अपने के साथ साथ परिवार का भी ध्यान रखें तथा धूम्रपान शराब सेवन से दूर रहने का निर्देश दिया उन्होंने बताया कि जो व्यक्ति इस तरह के कार्य करते हैं उनकी मानसिक स्थिति और अधिक बढ़ जाती है,

इस प्रकार कार्यशाला में उपस्थित  पुलिस लाइन,पुलिस कार्यालय,एवं थाना जशपुर के लगभग 190अधिकारी कर्मचारियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया परीक्षण में शुगर तथा ब्लड प्रेशर की जांच की गई एवं आवश्यकतानुसार रिपोर्ट के आधार पर डॉक्टर द्वारा दवाई लेने का निर्देश दिया एवं कई को समय पर नियमित रूप से जांच कराने का निर्देश भी दिया,

स्वास्थ्य परीक्षण में पुलिस लाइन स्टाफ प्रभारी रक्षित निरीक्षक सूबेदार श्री जितेंद्र कुमार चंद्रा एवं प्रधान आरक्षक 145 अमरबेल ,आरक्षक 246 अभय पीटर, आरक्षक 235 बूटा सिंह, आरक्षक 616 प्रमोद, 417 राज लाल 111 डाहरुराम ,427 सैहुन कुजूर, एवं

जिला चिकित्सालय जशपुर के स्टॉप डॉक्टर के आर खुसरो ,डीके अग्रवाल, एयू खान, चंद्र प्रताप, अविनाश द्विवेदी ,खीरो सागर यादव, रामकुमार मोदी का विशेष योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *