Friday, November 16, 2018
Home > Slider > Munaadi breaking-शाम को भुला सुबह घर लौटा कहावत हुई चरितार्थ, कहा भूल हो गई, समर्पित हूँ इसमे कोई …………….

Munaadi breaking-शाम को भुला सुबह घर लौटा कहावत हुई चरितार्थ, कहा भूल हो गई, समर्पित हूँ इसमे कोई …………….

रायगढ मुनादी।
कहावत है शाम का भूला सुबह को घर लौट आया भटक गया था एहसास होने पर पर अपनी कुटिया में आ गया। हम बात कर रहे है उन भाजपा कार्यकर्ताओं की जो पिछले दिन भाजपा का दामन छोड़ निर्दलीय उम्मीदवार के साथ हो लिए थे। दूसरे दिन होते होते यह दोनों मुखिया अपनी मूल पार्टी में वापस हो गए कहा कुछ गलतफहमी की वजह से चला गया था लेकिन पार्टी के प्रति मेरी निष्ठा ने मुझे वापस ले आया यह कहना है मगन पाल सिंह बल झलमला सरपंच और उपाध्यक्ष सरपंच संघ पूसोर और मेजर सिंह झलमला का। ये पिछले दिवस भाजपा का दामन छोड़ निर्दलीय उम्मीदवार की तरफ आकर्षित हो कर भगवा झंडा छोड़ने की नाकाम कोशिश किये लेकिन सफल नही हो सके और दूसरे दिन अपने घर यानी वापस भाजपा में पुनः वापस आ गए।

मगन पाल सिंह बल झलमला सरपँच उपाध्यक्ष सरपँच संघ व मेजर सिंह झलमला आज भाजपा कार्यालय में गिरधर गुप्ता की उपस्थिति में भाजपा में वापस आए और उन्होंने भाजपा के प्रति अपनी आस्था व्यक्त करते हुए कहा कि वह भाजपा के लिए ही बने हैं और मरते दम तक भाजपा के लिए ही काम करते रहेंगे पार्टी के प्रति उनकी पूरी निष्ठा है और इसी निष्ठा के साथ रोशन लाल अग्रवाल को जिताने प्रतिबद्ध हैं इस मौके पर भारत भूषण डनसेना रायगढ़ ने भी भाजपा का दामन थामा जिन्हे गिरधर गुप्ता ने गमछा पहना कर भाजपा प्रवेश कराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *