Friday, April 19, 2019
Home > Top News > जैसे ही मिला चुनाव चिन्ह बाल्टी ,अगले दिन मार दी पल्टी, कांग्रेस के बागी ने कहा नहीं लड़ूंगा निर्दलीय चुनाव करूंगा कांग्रेस का प्रचार

जैसे ही मिला चुनाव चिन्ह बाल्टी ,अगले दिन मार दी पल्टी, कांग्रेस के बागी ने कहा नहीं लड़ूंगा निर्दलीय चुनाव करूंगा कांग्रेस का प्रचार

 

कोरिया से अनूप बड़ेरिया की मुनादी।

कोरिया जिले के भरतपुर सोनहत विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने की घोषणा करने वाले जिला पंचायत सदस्य तथा कांग्रेस से बागी हुए अंचल के कद्दावर आदिवासी नेता शरण सिंह ने चुनाव चिन्ह बाल्टी छाप के मिलने के अगले दिन ही पलटी मारते हुए प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि उन्होंने कांग्रेस की ओर से नामांकन फार्म जमा किया था, लेकिन कांग्रेस से उन्हें टिकट नहीं मिली है। अतः वह 5-11-18 को नामांकन वापसी के अंतिम दिन जब वह कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी गुलाब कमरों के पक्ष में अपना नामांकन वापस लेने आ रहे थे, अभी रास्ते में बेलबहरा के पास रेलवे फाटक बंद हो जाने की वजह से उन्हें विलंब हो गया और जब वह निर्वाचन कार्यालय 5 मिनट विलंब से पहुंचे, तब तक नाम वापसी की समय अवधि समाप्त हो चुकी थी और उन्हें चुनाव चिन्ह का आवंटन किया जा चुका था। जिसके बाद वह वरिष्ठ कांग्रेसियों के कहने के कारण अब निर्दलीय चुनाव ना लड़कर कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी गुलाब कमरों के पक्ष में चुनाव प्रचार करेंगे।
शरण सिंह के इस तरह अचानक पाला बदलने के कारण कि जब जानकारी मुनादी डॉट कॉम ने ली तो उन्होंने बताया कि नेता प्रतिपक्ष टीएस सिंहदेव व डॉ चरणदास महंत ने मुझे फोन फोन कर दबाव बनाया तथा चुनाव ना लड़ने को कह गुलाब कमरों के पक्ष में प्रचार करने को कहा। शरण सिंह ने यह भी बताया कि जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नजीर अजहर, राजीव गांधी पंचायती संगठन के मुख्तार अहमद तथा पीसीसी सदस्य वेदांती तिवारी उन्हें मनाने पहुंचे थे । काफी दबाव के बाद उन्हें निर्दलीय चुनाव लड़ने का विचार त्यागना पड़ा। अब वह गुलाब कमरों के पक्ष में प्रचार करेंगे ।लेकिन उन्होंने ऑफ द रिकॉर्ड मुनादी डॉट कॉम से कहा कि वह काफी पहले से प्रचार-प्रसार में लग गए थे और उनका काफी पैसा खर्च हो चुका था, अब इसकी भरपाई कौन करेगा । वहीं उन्होंने यह भी बताया कि उनके इस निर्णय से अब उनके समर्थक नाराज हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *