Wednesday, June 26, 2019
Home > Top News > मांड तट पर बसे किलकिलेश्वर धाम को पर्यटन में शामिल करने की मांग , पर्यटन मंत्री के आश्वासन बाद भी………….

मांड तट पर बसे किलकिलेश्वर धाम को पर्यटन में शामिल करने की मांग , पर्यटन मंत्री के आश्वासन बाद भी………….

 

 

पत्थलगांव से अतुल त्रिपाठी /बबलू तिवारी की मुनादी

 

 

 

मांड नदी के तट पर बसे पत्थलगांव के प्रसिद्ध किलकिला धाम में लगातार श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ती जा रही है जहां कांवरियों सहित भक्तों का रेला लगा हुआ है किंतु पुलिस की सुविधा के अलावे अन्य सुविधा बेहतर रूप से उपलब्ध नही है जिसके लिए लगातार प्रसिद्ध किलकिलेश्वर धाम को पर्यटन में शामिल करने की लगातार मांग उठाई गई जिसके लिए कई जनप्रतिनिधियों सहित युवक कांग्रेस ने कई बार इसके लिए मांग उठाई है लेकिन आज तक सरकार ने इस मांग को ठंडे बस्ते में रखा है । जबकि पर्यटन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने अपने दौरे के समय किलकिला की इस मांग की फ़ाइल को आगे बढ़वाने की बात भी कही थी गौरतलब है कि लगातार कांवरियों की संख्या दिनों दिन बढ़ने के साथ खासकर सावन के महीने में इनकी संख्या लाखों तक पहुंच रही है जिससे कांवरियों के रुकने के लिए आवश्यक व्यवस्था तो है किंतु बहुत कम इस लिहाज से किलकिलेश्वर धाम को पर्यटन केंद्र में शामिल करने की मांग फिर तेज हो चली है । भाजपा के जिला उपाध्यक्ष सुनील अग्रवाल ने कहा कि किलकिला को पर्यटन केंद्र बनाने उन्होंने माननीय मुख्यमंत्री को पत्र लिखने की बात कहते हुए इसे अहम मांग बताया है उन्होंने कहा कि हमे विश्वास है कि हमारे यशस्वी सीएम इस मांग पर जरूर विचार करेंगे ।जिसके लिए हम पूरी तरह से प्रयास करेंगे ।

 

युवक कांग्रेस उठाएगी मांग 

 

युवा कांग्रेस के विधानसभा अध्यक्ष शैलेश शर्मा ने कहा कि किलकिला मांड नदी के तट पर बसा पावन स्थल है जहां प्रसिद्ध भोलेनाथ बाबा किलकिलेश्वर बाबा विराजमान है साथ ही मरणीकर्णिका बाबा घाट भी है जो स्थल पर्यटन के लिहाज से बहुत ही ख्याति प्राप्त है जहां 12 मास पर्यटक भी आते हैं जहां वोटिंग जैसी सुविधा,धर्मशाला, मंगल भवन,पर्यटक रेस्ट हाउस जैसी सुविधा सरकार को देनी चाहिए जिसके लिए उन्होंने पुनः इसके लिए मुख्यमंत्री जी से ज्ञापन सौंप कर किलकिलेश्वर धाम को पर्यटक केंद्र के रूप में घोषित करने की बात कही है ।

Munaadi Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *