Thursday, February 20, 2020

Munaadi News

जब अधिकारियों ने कहा कि फंड नही है तो किसानों
ने उठाया लिया फावड़ा और……..पढिये पूरी खबर

नारायणपुर से निरंजन मोहंती की मुनादी ।।

 

 

Munaadi Ad

एक तरफ सरकार किसानों के खेतों को सिंचित करने के लिए लाखों करोड़ों खर्च कर डेम एवम टियूब वेल के माध्यम से खेतों तक पानी पहुंचा रही वहीं ।नारायणपुर में नहर सफाई को लेकर अधिकारी कह रहे हैं नहर सफाई को लेकर कोई फंड नही है , किसानों को अगर पानी चाहिए तो श्रम दान कर नहर की सफाई तो करना ही पड़ेगा,तब ही जाकर उनके खेतों में पानी पहुंच पायेगा। वंही किसान श्रम दान करके नहर सफाई कर रहे हैं ताकि पानी मिल सके, वंही नहर विभाग पानी टैक्स के रूप में किसानों से हजारों रुपये वसूलती है,किसानों का कहना है कि निशुल्क श्रम दान कर रहे हैं वहीं टैक्स भी हजारों में दे रहे है आखिर यंहा का टैक्स का पैसा जाता कन्हा है ।किसानों ने हाइड्रो पावर पर आरोप लगाते हुए बताया कि हाइड्रो पवार के कर्मचारियों द्वारा बिजली बनाने हेतु पानी को जमा करने के लिए डेम को आजकल 9 बजे बन्द करके दोपहर 3 बजे खोला जाता है जिससे हमें पानी सही मात्रा में नही मिलती है,ओर नहर के अंतिम छोर वाले किसानों को बिल्कुल ही पानी नही मिल पाता है।
किसानों ने यह भी बताया कि 3 बजे गेट खोलने से हमहारे खेतों में पानी पहुंचते पहुंचते 4 से 5 घंटे लग जाते है ऐसी स्थिति में रात हो जाने से जंगली जानवरों का भय भी रहता है आजकल इस क्षेत्र में हाथियों एवम भालुओ का आतंक ज्यादा है,जिससे किसान रात को नहर से सिचाई नही कर पाते हैं।

डी आर दर्रो – (ई ई)मुख्य कार्य पालन अभियंता जशपुर ने मुनादी को बताया कि नहर सफाई को लेकर अभी कोई बजट नही है किसानों को पानी मिले जिससे किसानों को श्रम दान करके ही नहर सफाई हो पाएगी। किसानों ने आपके माध्यम से हाइड्रो पावर द्वारा 9 से 3 बजे तक गेट बन्द रखने की बात कही है मैं स्वयं जाकर कल इस बात की जानकारी लेकर उनको ऐसा न करने की हिदायत दूंगा।

munaadi ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

[bws_google_captcha]