Wednesday, November 21, 2018
Home > Slider > Raigarh Breaking-मेरे मरने के बाद कर्मकांड नहीं बल्कि मेरे संपूर्ण शरीर को दान कर देना,Raigarh Breaking- यह किसी सामान्य व्यक्ति का संकल्प नहीं हो सकता

Raigarh Breaking-मेरे मरने के बाद कर्मकांड नहीं बल्कि मेरे संपूर्ण शरीर को दान कर देना,Raigarh Breaking- यह किसी सामान्य व्यक्ति का संकल्प नहीं हो सकता

*अंतिम इच्छा का सम्मान करते हुए पिता जगदीश अग्रवाल के निधन पर बेटों ने किया पूर्ण देह दान*

तीन दिनों तक वैदिक रीति से होगा यज्ञ एवं शांति पाठ

शहर के जाने माने गणमान्य व्यक्ति जगदीश प्रसाद अग्रवाल जिस तरह की उनकी छवि थी अपनी छवि के अनुरूप ही अपने जीवन काल में अपनी छवि पर कभी किसी तरह की आंच नहीं आने दी। अपने जीवनकाल के बाद भी कर्मकांड से दूर अपने पूरे देह को दान करने की मंशा आज उनकी मृत्यु के बाद उनके पुत्रों द्वारा निभाने  एलान किया गया।  उनके निधन की खबर लगते ही उनके मानने वालों की आंखों में आंसू छलक आए उनके दर्शन के लिए घर पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया।

सामान्यता लोग कर्मकांड और सामाजिक रीति रिवाज बंधन से बने होते हैं ऐसे विरले ही होते हैं जो कर्म कांड को एक अलग नजरिए से देखते हैं उनमें से एक शहर के जगदीश प्रसाद अग्रवाल भी शामिल हैं जिन्होंने कर्मकांड के इधर अपना देहदान करने की इच्छा अपने पुत्रों के समक्ष रखी थी ऐसा हर कोई नहीं कर सकता सामान्य व्यक्ति ऐसा करने से पहले सैकड़ों बार सोचता है उसके बाद भी वह इस नतीजे पर नहीं पहुंच पाता जैसा कि जगदीश प्रसाद अग्रवाल जैसे व्यक्तित्व वाले लोग कर पाते हैं आज उनके निधन से समूचे शहर में शोक की लहर फैल गई है।

 

संघ परिवार की पृष्ठभूमि से जुड़े स्टाइलो स्टील के संचालक व सरस्वती शिशु मंदिर के पूर्व अध्यक्ष जगदीश प्रसाद अग्रवाल का देहांत आज प्रातः 8.30 बजे उनके निवास स्थान पर हो गया l उनकी अंतिम इच्छा के अनुसार उनका सम्पूर्ण देह मेडिकल कॉलेज रायगढ़ में दान दे दिया गया है l उन्होंने कहा था कि पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार की कुरीतियो से मुक्त करते हुए केवल तीन दिनों तक वैदिक रीति से यज्ञ एवं शांति पाठ करवाया जाए l उनके सुपुत्र संजय अग्रवाल गणेश अग्रवाल ने पिता की अंतिम इच्छा का सम्मान करते हुए आज अपरान्ह 1 बजे मेडिकल कॉलेज में उनके पार्थिव शरीर का दान कर दिया l कल मंगलवार प्रातः 9 बजे से 9.30 बजे तक मेडिकल कॉलेज में उनके पार्थिव शरीर के अंतिम दर्शन किये जा सकते है l हंडी चौक बाल सदन रोड उनके निवास स्थान पर मंगलवार प्रातः 11 बजे से 1 बजे तक यज्ञ एवं शाम 3 बजे से 5 बजे तक गीता का पाठ के साथ बैठकी तीन दिनों तक होगा l यज्ञ एवं गीता पाठ के साथ बैठकी मंगलवार बुधवार व गुरुवार को निर्धारित समय पर होगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *