Tuesday, November 13, 2018
Home > Slider > विधानसभा चुनाव 2018, अब चुनावी सरगर्मी बढ़ी, पढिये रायगढ़ विधान सभा से दावेदारी, पढिये कितने 

विधानसभा चुनाव 2018, अब चुनावी सरगर्मी बढ़ी, पढिये रायगढ़ विधान सभा से दावेदारी, पढिये कितने 

रायगढ मुनादी।

विधानसभा चुनाव 2018 के लिए  दावेदारों को अपना दावा पेश करने के लिए छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा दी गयी समय अवधि आज 7 अगस्त को समाप्त हो गयी। पीसीसी के निर्देश पर रायगढ जिले में भी विधानसभा चुनाव लड़ने के इच्छुक सभी दावेदारों ने आज शाम तक अपना आवेदन फार्म अपने-अपने ब्लॉक अध्यक्षों को सौंप दिया है ।

बता दें कि कांग्रेस में लोकतांत्रिक व्यवस्था में दावेदारी करने का सभी को अधिकार है। लेकिन यह सर्वविदित है कि पांचों विधानसभा में दावेदारी की टक्कर एक और दो लोगों के बीच में ही है ।

अभी हम बात करे रायगढ विधान सभा सीट से तो डॉ राजु अग्रवाल, अनिल अग्रवाल चीकू, केके गुप्ता, प्रकाश नायक,  जयंत बहिदार, सलीम नियारिया सभापति नगर निगम, कृष्णा रविंद्र पटेल, हेमन्त थवाईत, राकेश पांडे, संदीप अग्रवाल, जगदीश मेहर,दीपक पांडे, सफेद गुप्ता, वासुदेव यादव, दिलीप पांडे,  खुशीराम मल्होत्रा, शंकर अग्रवाल, हरमित घई, प्रदीप मिश्रा, बरखा सिंह,  मनोरंजन नायक, संतोष राय, दीपक आचार्य, मुरलीधर अग्रवाल,  परदेसी चौहान सहित 26 लोगो ने दावेदारी पेश की है

।  इनमें से अधिकांश दावेदारी सिर्फ एक उत्साह ही है जो कांग्रेस पार्टी लोकतांत्रिक तरीके को अपनाते हुए देती है।

इनमें से कुछ ऐसे प्रत्याशी हैं जो दोनों जगह से दावेदारी कर रहे हैं जिनमें कृष्णा रविंद्र पटेल और मुरली अग्रवाल हैं जो रायगढ़ और खरसिया दोनों ही स्थानों से अपनी दावेदारी की है।

यह बात अलग है कि इसमें जीतने वाले चेहरे कितने हो सकते हैं। यह बात अलग है कि इनमें से अधिकांश लंबे समय से पार्टी के विभिन्न पदों पर रहते हुए प्रत्याशी के तौर पर दावेदारी कर सकते हैं और किया भी है हालांकि कांग्रेस में यह परिपाटी रही है कि वह प्रत्याशियों की दावेदारी लोकतांत्रिक तरीके से मंगाती है और जीतने वाले प्रत्याशी का नाम तय स्क्रीनिंग कमेटी करती है ।

स्क्रीनिंग कमेटी किसे दावेदार के रूप में पेश करना है  इस पर स्क्रीनिंग कमेटी और आला संगठन के पदाधिकारियों की मुहर लगनी शेष है ।
रायगढ़ से यदि दावेदारों की बात करें तो यहां पर जिले से सबसे ज्यादा दावेदार सामने आए हैं। बरहाल  जो भी हो कांग्रेस यदि एकजुट होकर चुनाव लड़ेगी तो उसे लाभ निश्चित रुप से मिलेगा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *