Saturday, September 21, 2019
Home > Top News > अजीत जोगी को इस जिले में लगा तगड़ा झटका, छजकां के जिलाध्यक्ष सहित 550 कार्यकर्ताओं पार्टी से दिया इस्तीफा

अजीत जोगी को इस जिले में लगा तगड़ा झटका, छजकां के जिलाध्यक्ष सहित 550 कार्यकर्ताओं पार्टी से दिया इस्तीफा

Munaadi News

मुनादी की खबर पर मुहर

 

बिना संगठन से सलाह लिए नियुक्ति थोपने का आरोप

आने वाले समय में एक और कद्दावर नेता तथा उनके समर्थकों के जोगी कांग्रेस छोड़ने के संकेत

यवत सिंह और उनके समर्थकों के कांग्रेस में जाने के कयास

कोरिया बैकुंठपुर से अनूप बड़ेरिया की मुनादी

 

 

मुनादी डॉट कॉम ने सबसे पहले यह खबर चलाई थी कि अंचल के कद्दावर आदिवासी नेता व जोगी कांग्रेस के कोरिया जिलाध्यक्ष यवत सिंह अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ पार्टी छोड़ सकते हैं। आखिरकार मंगलवार की देर शाम छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के कोरिया जिला अध्यक्ष यवत सिंह में अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ बैकुंठपुर विश्राम गृह में एक बैठक आयोजित करने के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने वाट्स एप के माध्यम से जनता कांग्रेस के सुप्रीमो अजीत जोगी को अपना इस्तीफा भेज दिया है इसी के साथ ही जनता कांग्रेस के दो महामंत्री सहित लगभग 550 पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने जनता कांग्रेस से अपना इस्तीफा दे दिया है।

बैठक में कार्यकर्ता

वहीं अब इस बात पर भी कयास लगाए जा रहे हैं कि कोरिया जिले के एक और कद्दावर आदिवासी नेता तथा पूर्व विधायक भी शीघ्र ही जनता कांग्रेस से इस्तीफा दे सकते हैं । फिलहाल यह कद्दावर आदिवासी नेता अस्वस्थ हैं। मंगलवार की शाम से ही स्थानीय विश्राम गृह में पूरे कोरिया जिले भर से यवत सिंह के समर्थक बड़ी तादाद में इकट्ठा होने लगे थे ।

इस भीड़ को देखने के बाद अंचल के इस बड़े आदिवासी नेता हकीकत का पता चलने लगा कि आज भी लोगों में इनकी कितनी जबरदस्त पकड़ है । बैठक चलती रही और लोगों के आने का सिलसिला बढ़ता रहा। लगभग 8 सौ से एक हजार लोगों की संख्या स्थानीय विश्राम गृह में जमा हो गई थी। लेकिन फिलहाल कोरिया जिला अध्यक्ष यवत सिंह के साथ महामंत्री किशोर अग्रवाल और विजेंद्र यादव, जिला संगठन सचिव प्रकाश पांडे ,प्रवक्ता धीरू शिवहरे , राकेश कक्कड़ ,उपाध्यक्ष भगवान सिंह, मनप्रीत सिंह, ट्रेनर अरविंद सिंह ,कोषाध्यक्ष राजकुमार जैन ,दिनेश कुमार व सत्यव्रत पांडे सहित लगभग 550 जोगी कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने इस्तीफा दिया है । यह भी बताया जा रहा है कि इसके बाद अंचल के एक और बड़े नेता सामूहिक रूप से इस्तीफा देंगे। जिनमें उनके साथ लगभग एक हजार कार्यकर्ता भी शामिल रहेंगे। वही यवत सिंह अपना इस्तीफा देते हुए बताया कि छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस अब पिता-पुत्र की पार्टी बनकर रह गई है । पिता जोगी जब स्वास्थ्य लाभ ले रहे थे । तब उनके पुत्र ने बिना किसी संगठन या कमेटी से सलाह लिए बिना ही अनेक विधानसभा क्षेत्रों में प्रत्याशियों की नियुक्ति कर दी। इसके अलावा लोकसभा प्रभारी भी जब कोरिया आते हैं तो अपने मनमाने ढंग से किसी की भी नियुक्ति कर देते हैं । जिससे सभी कार्यकर्ताओं में काफी रोष है। इन्हीं सब कारणों से हम सभी अपना इस्तीफा दे रहे हैं । लेकिन चर्चा यह भी है कि जब से जोगी कांग्रेस ने बैकुंठपुर विधानसभा सीट से प्रत्याशी गुरू को बिहारी लाल राजवाड़े का नाम घोषित किया है तभी से यवत सिंह नाराज चल रहे थे। उनके अगले कदम के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अभी कार्यकर्ताओं से चर्चा आगे की रणनीति तय की जाएगी । लेकिन ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं यवत सिंह वापस एक बार फिर कांग्रेस में जाएंगे। उल्लेखनीय है कि अंचल के इस कद्दावर आदिवासी नेता की पटना व उसके आस-पास के क्षेत्रों में अच्छी खासी पकड़ है । कांग्रेस में कोरिया जिला के जिला अध्यक्ष जिला पंचायत कोरिया के अध्यक्ष रह चुके हैं। अपने सौम्य व्यवहार व ईमानदार छवि की वजह से वह लोगो मे काफी लोकप्रिय हैं। लेकिन अब ऐसा माना जा रहा है कांग्रेस के बाद जनता कांग्रेस और वापस फिर कांग्रेस में आने के बाद लोग उन्हें महत्वाकांक्षी ना समझने लगे ।

munaadi ad munaadi ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *