Tuesday, August 14, 2018
Home > समाचार > गांजा तो पकड़ा पर गाड़ीवाले को नहीं, रहस्यमयी पुलिस कार्रवाई का सच, आखिर क्या है

गांजा तो पकड़ा पर गाड़ीवाले को नहीं, रहस्यमयी पुलिस कार्रवाई का सच, आखिर क्या है

 

जशपुर मुनादी ।।

 

 

काफी लंबे अरसे से गांजा तस्कर जशपुर पुलिस के हत्थे तो चढ़े और पुलिस को सफलता भी मिली लेकिन पुलिस के इस कार्यवाही परभी कई तरह के सवाल उठ रहे हैं । बताया जा रहा है कि इस मामले में मुख्य रूप से संलिप्त गाड़ी मालिक को बचाया जा रहा है। अंदरूनी सूत्रों के मुताबिक जिस गाड़ी से 16 किलो गंजा बरामद हुआ है वह गाड़ी लैलूंगा थाना क्षेत्र के किसी पीलूराम यादव पिता लोरो यादव की है लेकिन कोतबा पुलिस को अबतक यह नही पता कि पीलूराम कौन है। इस पूरे मामले में जब हमने कोटबाचौकी प्रभारी से बात की और गाड़ी मालिक के बारे में जानने की कोशिश की तो उन्होंने बताया कि अभी तक गाड़ी मालिक का पता नही चल पाया है । उन्होंने किसी पीलूराम के सम्बंध में कोई जानकारी होना नही बताया ।
सवाल यह है कि डिजिटल यूग में जहां सारी जानकारियां सहज रूप से इंटरनेट में उपलब्ध हो जाती हैं वो जानकारी अब तक पुलिस को उपलब्ध क्यों नही हो पायी?यहां की पुलिस का कहना है कि गाड़ी में कोई डाकुमेंट नही होने के कारण गाड़ी मालिक का अबतक पता नही चल पाया है ।
जबकि सूत्रों का कहना है कि कोतबा पुलिस रात को ही लैलूंगा थानांतर्गत बरखुरिया गांव के निवासी पीलू राम यादव को अपने गिरफ्त में लिया था लेकिन किन कारणों से अब तक इस चरित्र का नाम सामने नही आया यह आश्चर्य का विषय है ।

यह गौतलब है कि इस मामले को लेकर सोशल मीडिया में और भी कई तरह की बाते सामने आ रही है। सोशल मीडिया में यह भी कहा जा रहा है कि बेगुनाहों को पकड़कर और गुनाह में संलिप्त लोगो को बचाकर इस मामले में अपना पीठ थपथपा रही है ।
बहरहाल यह अपने आप मे एक बड़ा सवाल है कि घटना के इतने घण्टों के बाद भी पुलिस अबतक गाड़ी मालिक का पता नही लगा पायी है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *