Monday, December 10, 2018
Home > Slider > पुलिस परिजन रैली के दौरान ऐसा क्या हुआ कि जब थाने में ही भीड़ गए थानेदार और प्रधान आरक्षक …. …………………

पुलिस परिजन रैली के दौरान ऐसा क्या हुआ कि जब थाने में ही भीड़ गए थानेदार और प्रधान आरक्षक …. …………………

बिलासपुर से ऋतु साहू की मुनादी ।।

 
नेहरू चौक में शुक्रवार दोपहर सिटी कोतवाली टीआई और प्रधान आरक्षक आपस में भिड़ गए। दोनों के बीच जमकर बहस हुई। बात बढ़ते देख वहां पर मौजूद पुलिस अफसरों के बीच-बचाव करने पर हाथापाई होते-होते बच गई।दरअसल, हुआ यूं कि बिलासपुर जिले के पुलिस कर्मियों के परिवारों ने 22 जून को अपनी मांगों को लेकर हड़ताल करने का एलान किया था। इनकी हड़ताल को रोकने के लिए सुबह से ही नेहरू चौक को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया था। यहां पर सभी थानों के पुलिस अधिकारियों और कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई थी।शुक्रवार दोपहर पुलिस परिवार की दो महिलाएं बच्चों को स्कूल से घर ले जा रही थीं। नेहरू चौक के पास सिटी कोतवाली टीआई आरपी शर्मा ने इन महिलाओं को रोक लिया और वाहन पर बिठा दिया। यह देख वहां पर मौजूद सिविल लाइन थाने के प्रधान आरक्षक दिनेश तिवारी ने आपत्ति की। उनका कहना था कि कोई घरेलू काम से जा रहा है तो उसे रोकना गलत है।इन महिलाओं को पकड़ने पर हुआ विवाद।इसी बात को लेकर टीआई शर्मा और प्रधान आरक्षक दिनेश तिवारी के बीच बहस हो गई। इस दौरान टीआई ने उन्हें सख्त लहजे में कहा कि आप हड़ताल का समर्थन कर रहे हैं। करीब 5 मिनट तक दोनों के बीच जमकर बहस हुई। इस बीच दोनों एक-दूसरे से भिड़ने के लिए उतारु हो गए। दोनों में तनातनी को देखकर वहां मौजूद पुलिस अफसरों और कर्मचारियों ने बीच बचाव किया। इसके कुछ देर बाद पकड़ी गईं दोनों महिलाओं को छोड़ दिया गया।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *