Thursday, September 20, 2018
Home > Slider > महानदी के मुद्दे पर नवीन पटनायक ने छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती गांव में सभा की, छत्तीसगढ़ सरकार को कोसा

महानदी के मुद्दे पर नवीन पटनायक ने छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती गांव में सभा की, छत्तीसगढ़ सरकार को कोसा

 

रायगढ़ मुनादी ।।

 

 

ओडिशा सरकार किसी भी कीमत पर महानदी मुद्दा को छोड़ने तैयार नहीं है। पहले कोर्ट, ट्रिब्यूनल इसके बाद अब जनसभाओं के जरिये स्वयं मुख्यमंत्री लोगों तक इस मुद्दे को पहुंचाने में लगे हैं। इसी तारतम्य में आज ओडिशा बॉर्डर के गांव चिखली में ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने सभा की और महानदी मुद्दे पर छत्तीसगढ़ सरकार के खिलाफ खूब जहर उगला।

महानदी बचाओ महाभियान का नारा लगाते हुए आंदोलन की शुरुआत चिखली में महानदी के महुलपाली नदी-घाट किनारे भारी जनसभा को संबोधित करते हुए की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान बीजेपी छ.ग.राज्य सरकार ने ओडि़सावासियों के साथ छल किया है।वह हमें अंधेरे में रखकर महानदी पर एक के बाद 8 बैराज बना कर नदी के पानी को रोक लिया है। इससे हमें पानी नहीं मिल रही है। हमारी कृषिकार्य व जनजीवन सूखा से प्रभावित हो चुकी है।। एक बैराज के कारण 400 से 500 किमी के दायरे में पानी की कमी नदी में हो जाती है इसलिए,हम सभी ओडि़सावासियों को आह्वान करते हैं कि हमारी जीवनरेखा महानदी की अस्मिता,ओडि़सा राज्य की अस्मिता,कृषि-अर्थव्यवस्था की रक्षा,जनजीवन की पीने लायक पानी की व्यवस्था सहित ओडि़सा की भावी पीढ़ी की भविष्य सुरक्षा हेतु हमारे आंदोलन को समर्थन दें।अन्त में,मुख्यमंत्री ने बंदे उत्कल जननी ! बोलकर अपनी बात समाप्त किया।बीजेडी ने महानदी के नाम से वोट माँगा-जनसभा में बीजेडी के कई सांसद,मंत्री,विधायक सहित दिग्गज पूर्व मंत्री आदि नेता उपस्थित रहे।सभी ने एक स्वर में कहा कि वर्तमान छ.ग. राज्य सरकार ने महानदी जल-समझौते का उल्लंघन किया है।छ.ग.ने बैराजों के निर्माण की कोई जानकारी उडि़सा सरकार को नहीं दिया।वह महानदी के पानी को उद्योगों को बेच रही है,जबकि ओडि़सा की जनता महानदी पर आश्रित है।आज केन्द्र में बीजेपी की सरकार है वहीं छ.ग. में भी बीजेपी की सरकार है इसलिए छ.ग. की मनमानी पर केन्द्र सरकार मौन है।हमारे साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है।बीजेडी ने मामले को सुप्रीम कोर्ट में जाकर पेश किया है जिसमें हमारी जीत भी हुई और जाँच हेतु एक ट्रिब्यूनल का गठन किया गया है। ओडिशा के कई दिग्गज नेता सीएम के साथ मौजूद थे जिसमें प्रभात सिंह,प्रसन्न आचार्य,प्रफुल्ल मलिक,अरुण साहू,देवेश आचार्य,, सुशांत सिंह,अनंग उदयसिंग देव एवं रीता साहू ने आंदोलन से जुडऩे का आह्वान लोगों से किया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *