Friday, December 14, 2018
Home > Slider > नागलोग में चल रहा भ्र्ष्टाचार का भांगड़ा और कमीशनखोरी का नागिन डांस ….आप भी पढिये इस खबर

नागलोग में चल रहा भ्र्ष्टाचार का भांगड़ा और कमीशनखोरी का नागिन डांस ….आप भी पढिये इस खबर

 

 

जशपुर मुनादी ।।

 

 

एक तरफ प्रदेश के मुखिया पूरे प्रदेश में हर रोज विकास की नई इबारत लिख रहे है तो दूसरी ओर विकास की बोली लगायी जा रही है । विकास कमीशन की भेंट चढ़ रहा है   । 

     हालिया मामला जशपुर जिले के नागलोक से जुड़ा है। कहते हैं करीब एक डेढ़ माह पहले फरसाबहार जनपद कोष में स्कूली शिक्षा मद से कुछ स्कूलों में बाउंड्री वाल बनाये जाने की प्रशासकीय स्वीकृति मिली थी । कायदे से प्रशासकीय स्वीकृति के बाद मामूली औपचारिकता के साथ अब तक बाउंड्री वाल निर्माण का काम शुरू हो जाना था लेकिन यह मामला अभी तक “परसेंटेज ” की परिधि का चक्कर लगा रहा है । बताया जा रहा है कि विकासखण्ड फरसाबहार के 5 हाई/हयरसेकेंडरी स्कूलों के लिए तकरीबन 5 लाख रुपये की लागत से बाउंड्री वाल बनाया जाना है और इसके लिए ठेकेदारों में होड़ मची हुई है । खबर है कि पंचायतो में ठेकेदारी करने वाले ठेकेदारनूमा लोग इस काम को हाथ मे लेने के लिए 20 से 25 परसेंट की बोली लगा चुके हैं जबकि कुछ राजनीतिक पहुच बताकर बिना परसेंटेज दिए ही काम करने सोर्स पर सोर्स लगा रहे है ।  

खास बात यह है कि प्रतिशत के खेल में कुछ जनप्रतिनिधियो के डायरेक्ट दखल होने के चलते पंचायत के सचिव और सरपंचों की भी बोलती बंद है और इस मामले वे चाहकर भी कुछ नही कर पा रहे है जबकि अधिकारियों  ने तो  आंख पहले से ही बंद किया हुआ है ।

    सवाल यह है कि विकास के दम पर चौथी बार प्रदेश में सरकार बनाने का सपना देख रहे प्रदेश के मुखिया को जब विकास की इन हकीकतों से पाला पडेगा तो क्या होगा ….यह बताना जरूरी है कि मुख्यमंत्री बीते वर्ष पार्टी के अधिवेशन में एक साल तक कमीशन बन्द करने के शख्त निर्देश दिए थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *